21 दिनों के लॉकडाउन के पीछे है बड़ी थ्योरी, समझ लीजिए यह गणित कोरोना से लड़ने के लिए है कितना जरूरी

21 दिनों के लॉकडाउन के पीछे है बड़ी थ्योरी, समझ लीजिए यह गणित कोरोना से लड़ने के लिए है कितना जरूरी

DESK: पूरी दुनिया में कोरोना का कहर जारी है. कोरोना ने अब भारत में भी तेजी से पैर पसारना शुरू कर दिया है.भारत में अबतक 582 कोरोना संक्रमित लोग पाए गए हैं और इससे ग्यारह लोगों की मौत हो चुकी हैं

कोरोना को हराने के लिए पीएम मोदी ने पूरे देश को इक्कीस दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया हैं.

ऐसे में एक्सपर्ट का कहना है कि इक्कीस दिन के लॉकडाउन के पीछे एक थ्योरी है.

एक्सपर्ट के मुताबिक कोरोना चौदह दिन तक सक्रिय रहता है और मरीज में लक्षण सात दिन में दिखने लगते हैं. मतलब चौदह दिन यानि सात अप्रैल तक पता चल जाएगा कि कौन बीमार है. 

जो बीमार है वो घर में ही रहा तो अगले सात दिन यानि चौदह अप्रैल तक उनके परिवार के लक्षण भी दिख जाएंगे. सोशल मीडिया पर यह थ्यौरी तेजी से वायरल हो रही है


Find Us on Facebook

Trending News