गेहूं खरीद पर सत्ताधारी सदस्यों ने सरकार की खोल दी पोल, मंत्री जी रटा-रटाया दे रहे थे जवाब

 गेहूं खरीद पर सत्ताधारी सदस्यों ने सरकार की खोल दी पोल, मंत्री जी रटा-रटाया दे रहे थे जवाब

पटनाः विधान परिषद में सत्ताधारी सदस्यों ने गेहूं खरीद पर सरकार की पोल खोल दी है। बीजेपी विधानपार्षद रजनीश कुमार और जेडीयू विधानपार्षद सतीश कुमार ने अधिकारियों पर सरकार को गुमराह करने का आरोप लगाया।सत्ताधारी सदस्यों ने सदन में कहा कि गेहूं खरीद में सरकार पूरी तरह से फेल हो गयी है।

BJP विधानपार्षद रजनीश कुमार ने सदन में बतया कि सरकारी अधिकारी कहीं न कहीं सरकार को गुमराह कर रहे हैं।अधिकारियों की लापरवाही से बिहार में गेहूं खरीद पूरी तरह से फेल हो गयी है।बीजेपी विधानपार्षद ने सदन में कहा कि विभागीय अधिकारी सही सूचना नहीं दे रहे।

वहीं जेडीयू के विधायक सतीश कुमार ने कहा कि विभाग बिचौलियों के माध्यम से गेहूं की खरीद कर रहा है। उन्होंने उदाहरण दिया कि उनके जिलें में 1800 लोगों ने ऑनलाईन आवेदन किया लेकिन 1300 किसानों के आवेदन को छांट दिया गया ।इसके लिए पूरे तौर पर विभाग के अधिकारी दोषी हैं।

इस पर सरकार की तरफ से जवाब दे रहे खाद्य उपभोक्ता मंत्री मदन सहनी ने सदन को बताया कि इस बार 2 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद का लक्ष्य रखा गया था।लेकिन अबतक 3100 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद हो पायी है।मंत्री ने इसके लिए बाजार मूल्य और समर्थन मूल्य के बीच अधिक गैप नहीं होने का मुख्य वजह बताया।मंत्री ने कहा कि किसान गेहूं बेंचने के लिए आगे नहीं आ रहे ।इसलिए लक्ष्य की पूर्ति नहीं पाई है।

Find Us on Facebook

Trending News