जब चाय बेचने वाला पीएम बन सकता है तो इंजीनियर नीतीश क्यों नहीं? सीपीआईएम की भारत बचाओ महारैली

जब चाय बेचने वाला पीएम बन सकता है तो इंजीनियर नीतीश क्यों नहीं? सीपीआईएम की भारत बचाओ महारैली

पटना. भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) – सीपीआईएम की ओर से गुरुवार को पटना के गांधी मैदान में भारत बचाओ महारैली आयोजित की गई है. बेरोजगारी, महंगाई और साम्प्रदायिकता के खिलाफ सीपीआईएम द्वारा आहूत महारैली में बिहार के कई जिलों से पार्टी कार्यकर्ता शामिल हुए हैं. भागलपुर से आए एक व्यक्ति ने कहा कि पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव के दौरान जो वादे किए थे उसे पूरा नहीं किया है. इसलिए मोदी सरकार को हराने के लिए सीपीआईएम के लोग एकजुट हैं. 

लोगों ने कहा कि केंद्र की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत सरकार देश को अंबानी और अडानी जैसे उद्योगपतियों के हाथों में बेचने में लगे हैं. देश को इन लोगों से बचाना है. इसलिए आज राज्य के दूर दूर के जिलों से लोग पटना आए हैं. एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि भारत की जनता को लूट से बचाने के लिए सीपीआईएम संघर्षरत है. इसलिए पटना में आज यह आयोजन हुआ है जिसमें वे लोग आए हैं. 


वहीं एक महिला ने कहा कि पीएम मोदी ने जितने भी वादे किए किसी भी वाडा को नहीं निभाया. इसलिए भूख और गरीबी के खिलाफ आंदोलन करने के लिए आज सीपीआईएम के लोग पटना आए हैं. महिलाओं ने कहा कि पीएम मोदी कभी बीमारी तो कभी महामारी के नाम पर लोगों को ठगते रहे हैं. आज लोगों की आमदनी घट गई है और महंगाई अपने चरम पर है. मोदी ने देश के लोगों और महिलाओं को 15 लाख रुपए देने का वादा किया था. लेकिन उन्होंने वादा पूरा नहीं किया.

नीतीश कुमार को वर्ष 2024 में देश का प्रधानमंत्री बनाने की बात पर लोगों ने कहा कि जब चाय बेचने वाला देश का पीएम बन सकता है तो इंजीनियर की डिग्री वाले नीतीश कुमार क्यों नहीं प्रधानमंत्री बन सकते हैं. नीतीश ने पीएम बनने की सारी योग्यता है. सीपीआईएम के लोग उनके पीएम पद की दावेदारी का समर्थन करेंगे. 


Find Us on Facebook

Trending News