जब BJP विधायक ने विधानसभा में कहा- 'का पर करूं श्रृंगार पिया मोर आंधर',फिर.....

जब BJP विधायक ने विधानसभा में कहा- 'का पर करूं श्रृंगार पिया मोर आंधर',फिर.....

पटनाः बिहार विधानसभा में आज शून्यकाल के दौरान बीजेपी विधायक का दर्द उभर कर सामने आ गया। उन्होंने सदन में ही कहा कि जब हमारी सरकार बनी तो सोचा कि सैंया भये कोतवाल को डर काहे का......लेकिन अब इस सोच को बदलान पड़ रहा है। भाजपा विधायक के यह कहने के बाद सारे सदस्य हंसने लगे। 

राघवेन्द्र प्रताप का दर्द आया सामने

लेकिन अब जो स्थिति देख रहा हूं उससे तो यही कहा जा सकता है कि ''का पर करूं श्रृंगार पिया मोर आंधर''.....। बिहार विधानसभा में बीजेपी विधायक राघवेन्द्र प्रताप सिंह के इस बयान के बाद सत्ता पक्ष और विपक्ष हंसने लगे। यह कह कर बीजेपी विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह अपनी सीट पर बैठ गये। 

दरअसल बड़हरा से भाजपा विधायक राघवेन्द्र प्रताप सिंह शून्यकाल के दौरान कहा कि राज्य में वृद्ध, विधवा एवं दिव्यांग के लिए 400 रुपये सहायता राशि दी जाती है जो बहुत कम है। दिव्यांगों के लिए दिल्ली में 2500, हरियाणा में 3000, गोवा में 3000 की सहायता राशि दी जा रही है। अतः वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन एवं दिव्यांग सहायता राशि को 400 रुपये से बढ़ाकर हरियाणा के अनुरूप 3000 रुपये करे सरकार। समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी ने कहा कि राज्य सरकार 95 लाख लोगों को सहायता राशि देती है। पेंशन या दूसरी सहायता राशि अन्य प्रदेशों की तुलना में बिहार सरकार नहीं दे सकती। सरकार की तरफ से अपनी मांग के अनुरूप सकारात्मक उत्तर नहीं मिलने पर बीजेपी विधायक ने दुःखीं मन से कहावत कह माहौल को हल्का कर दिया। 


Find Us on Facebook

Trending News