दुधारू गाय से की औरतों तुलना तो महिलाओं ने खोला मोर्चा ऐसे सिखाया सबक

दुधारू गाय से की औरतों तुलना तो महिलाओं ने खोला मोर्चा ऐसे सिखाया सबक

नई दिल्ली. महिलाओं की गरिमा को तार तार करने वाले एक विज्ञापन के खिलाफ दुनिया भर में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है. एक डेयरी कंपनी ने अपने दुग्ध उत्पाद का विज्ञापन बनाया था जिसमें महिलाओं की तुलना दुधारू गाय से की गई. पिछले महीने के अंत में जारी हुए इस विज्ञापन का जब विरोध शुरू हुआ तब कंपनी ने इसे अपने प्लेटफोर्म से हटा लिया और अब महिलाओं से माफ़ी मांगी जा रही है. 

महिलाओं को दुधारू गाय दिखाने का यह विज्ञापन साउथ कोरिया की एक मशहूर डेयरी कंपनी सियोल मिल्क से जुड़ी है. 29 नवंबर को कंपनी ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर इसे अपलोड किया जिसके बाद कंपनी पर आरोप लगा कि इसमें महिलाओं को गलत तरीके से पेश किया गया है. विवाद बढ़ते ही कंपनी ने इसे हटा लिया. 

विज्ञापन में दिखाया गया था कि एक खुले मैदान में कुछ महिलाएं साफ पानी पीती, योग करती हुई नज़र आ रही हैं. इसी दौरान एक आदमी चुपके से अपने कैमरे के साथ सबको रिकॉर्ड करते हुए वहां धीरे धीरे आगे बढ़ता हैलेकिन जैसे ही युवक कैमरा लेकर उन औरतों के पास पहुंचता है तो सभी औरतें गाय बन जाती हैं. विज्ञापन में संदेश दिया गया है कि जिस तरह ये औरतें साफ पानी पीती और योग करती नजर आ रही हैं उसी तरह कंपनी का दूध भी शुद्ध खानपान और आवोहवा में पाली पोसी गई गायों से मिलता है. 

हालांकि विज्ञापन जारी होते ही कई महिला संगठनों ने इसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया. महिलाओं ने कंपनी के खिलाफ जोरदार विरोध किया. अंततः कंपनी ने विज्ञापन हटा लिया और अब माफी मांग रही है. कंपनी ने कहा है कि वह महिलाओं की गरिमा के खिलाफ कुछ भी नहीं करना चाहता. साथ ही भविष्य में ऐसा न हो इसका ख्याल रखा जाएगा. कंपनी इसी तरह 2003 में विवादों में घिरी जब निर्वस्त्र महिला मॉडलों पर दही फेंकवाया गया था. बाद में विवाद बढने पर कंपनी ने माफी मांगी थी. 


Find Us on Facebook

Trending News