कहां है सीपीआई का पोस्टर बॉय कन्हैया, बड़ी हार के बाद हताश कन्हैया की पढ़िए इनसाईड स्टोरी...

कहां है सीपीआई का पोस्टर बॉय कन्हैया, बड़ी हार के बाद हताश कन्हैया की पढ़िए इनसाईड स्टोरी...

NEWS4NATION DESK : सीपीआई का पोस्टर बॉय और बेगूसराय से सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार कहां हैं? यह सवाल हर कोई जानने को इच्छूक है। आखिर चुनाव परिणाम आने के बाद कन्हैया का चेहरा कहां छूपा है। बेगूसराय का लाल और सीपीआई का भविष्य कन्हैया न तो टीवी स्क्रीन पर दिख रहा है और न हीं सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं।

सोशल मीडिया के धुरंधर कन्हैया अपने इस चहेते प्लेटफार्म पर सिरे से गायब दिख रहे हैं। कन्हैया ने अपना आखिरी ट्वीट 26 मई को किया था। जब उन्होंने अपने हीं जिले बेगूसराय में एक मुस्लिम फेरीवाले को कथित तौर पर पाकिस्तान जाने की बात कह गोली मारने की घटना को लेकर ट्वीट किया था। वहीं फेसबुक पर अपना आखिरी पोस्ट 28 मई को किया है।

कहीं बड़ी हार ने हताश तो नहीं कर दिया ?

कन्हैया कुमार अपनी घर में हीं बीजेपी के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह के हाथो मिली करारी हार से हताश तो नहीं हो गए? अचानक कन्हैया के बिहार और देश की राजनीति के पटल से गायब होने के बाद लोगों के बीच यह चर्चा छिड़ गयी है कि करारी हार ने सीपीआई के इस पोस्टर बॉय की कमर तोड़ दी है।

बेगूसराय के चुनावी रण में सीपीआई के भविष्य की हालत इतनी पतली रही कि उनको अपने बूथ पर भी जीतने लायक वोट नहीं मिले। कन्हैया कुमार को अपने घर बीहट के मोहल्ले पर बने मतदान केंद्र पर भी एनडीए के प्रत्याशी गिरिराज सिंह से काफी कम वोट मिले। बीहट के वार्ड 5 के बूथ पर कन्हैया कुमार को 703  तो गिरिराज सिंह को 807 वोट मिले। वहीं कन्हैया के गांव मसदनपुर बीहट के बूथ नम्बर 220 पर भी वह महज 61 वोट से लीड ले पाया था।

मुंबई से सेलिब्रिटिज का आना भी हुआ बेअसर

मुंबई से कई बॉलीवुड सितारे कन्हैया के लिए प्रचार करने बेगूसराय की धरती पर आए, लेकिन मोदी लहर के सामने सब के सब बेअसर साबित हुए। चाहे वो जावेद अख्तर हों या शबाना आजमी या फिर स्वारा भाष्कर, प्रकाश राज सभी के सभी फिल्मी सितारे सिर्फ लोगों का मनोरंजन ही कर पाये। जीत का अंतर यह बताने के लिए पर्याप्त है कि वहां न तो सितारों का जलवा काम कर पाया और ना हीं कन्हैया का करतब। 

सभी विस में पिछड़ गए कन्हैया 

विधानसभावार आंकड़ों पर नजर डालें तो चेरिया बरियारपुर से गिरिराज सिंह को 83,480, कन्हैया को 26,288, तनवीर हसन को 31,435 मत मिले। जबकि पोस्टल बैलेट में भी कन्हैया काफी पीछे रहे। इसमें गिरिराज सिंह को 4616, कन्हैया को 2059 और तनवीर हसन को 1433 मत मिले। वहीं बछवाड़ा में गिरिराज सिंह को 93,423,  कन्हैया को 46,962, तनवीर हसन को 31,819 वोट मिले। इसी तरह तेघड़ा में गिरिराज सिंह को 1,00,335, कन्हैया को 54,517, तनवीर हसन को 13,650। मटिहानी से गिरिराज सिंह को 1,21,959, कन्हैया को 45,817 तनवीर हसन को 23,811 मत मिले। वहीं बखरी में गिरिराज सिंह को 90,552, कन्हैया को 34,207,  तनवीर हसन को 29,319 मत मिले। बेगूसराय में गिरिराज सिंह को 1,22,504, कन्हैया को 42,240 और तनवीर हसन को 16,908 वोट मिले। 

जबकि साहेबपुर कमाल से गिरिराज सिंह को 75,324, कन्हैया को 17, 832, तनवीर हसन को 49,858 वोट मिले। इस तरह से गिरिराज सिंह को कुल 57 प्रतिशत मत मिले यानि कन्हैया और तनवीर हसन मिलकर भी गिरिराज सिंह को हरा नहीं पाते। 

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News