CM नीतीश ने आखिरकार क्यों कहा? अब तो हमको नहीं न याद रखना चाहता है .....बहुत लोग

CM नीतीश ने आखिरकार क्यों कहा? अब तो हमको नहीं न याद रखना चाहता है .....बहुत लोग

पटनाः मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज समस्तीपुर पहुंचे। सीएम ने पटेल मैदान से दहेज प्रथा एवं बाल-विवाह जैसी कुरीतियों के उन्मूलन तथा नशा मुक्ति को लेकर सामाजिक जागरूकता लाने को लेकर जनसभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम शराब पीने की कभी भी इजाजत नहीं दे सकते। सीएम नीतीश ने कहा कि हमने सभी क्षेत्रों में काम किया। लड़कियों के लिए साईकिल योजना को देखने इंगलैंड समेत अन्य देशों की टीम देखने आई। अब तो हमको नहीं न याद रखना चाहता है .....बहुत लोग। 

शुरू से ही मन था कि शराबबंदी लागू करें

सीएम नीतीश ने कहा कि जब शराबबंदी लागू हुआ था उसके बाद भी यात्रा पर निकले थे। इस बार समाज सुधार यात्रा पर निकले हैं। हमारी तो शुरू से इच्छा था कि शराबबंदी लागू हो। लेकिन मन में लगता था कि पूरे तरीके से लागू होगा या नहीं...क्यों कि इसी धरती पर कर्पूरी ठाकुर ने लागू किया था। लेकिन जब वो हटे तो शराबबंदी कानून को हटा दिया गया था। 

पहले वाली बात को जरा याद करिए.....

मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी सफल बनाने को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। एक बार फिर से वरिष्ठ आईएएस अफसर के.के. पाठक को मद्य निषेध विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। वे लगातार काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2016 में जब शराबबंदी लागू किये तो कुछ लोगों ने कहा कि डॉक्टर ने शराब पीने को कहा है। शराब पीने से कहीं तबीयत ठीक होता है जी...शराब पीने से तबीयत और भी खराब होता है। हमलोग शराब पीने की इजाजत देंगे? कुछ तो छचपच करने वाला होता ही है। हाल ही में जहरीली शराब पीने से 40 से अधिक लोगों की मौत हो गई। शराब पीया तो मरा,यह तो अन्य लोगों के लिए सबक है। समाज के विकास व लोकहित में कितना काम किया? कानून-व्यवस्था को लेकर काफी काम हुआ। पहले शाम में घर से निकलने की हिम्मत कोई करता था ?  अब क्या है, शाम की बात छोड़ दीजिए,देर रात भी कोई कहीं जाता है कोई दिक्कत है?  अब लोगों में भरोसा जगा है। 

हमने पंचायत में महिलाओं को आरक्षण दिया

सीएम ने कहा कि जब हमने महिलाओं को आगे बढ़ाया और पंचायत में महिलाओं को आरक्षण दिया तो कुछ लोग हमसे नाराज हो रहे थे. कहने लगे कि अब घर में तो खाना हम ही को बनाना पड़ेगा न ? हमने कहा कि क्या दिक्कत है,महिलायें बाहर जायेंगी और आपलोग खाना बनायें। वर्ल्ड बैंक से कर्ज लेकर जीविका समूह को गटित किया। आज एक करोड़ से अधिक महिला इससे जुड़ी हैं।मुख्यमंत्री ने लालू-राबड़ी राज पर हमला बोलते हुए कहा कि पहले वाला को कुछ करता नहीं था,उनलोगों को ध्यान आता था? साईकिल योजना हमने शुरू की तो विदेश से टीम आई इस योजना को देखने। उसके बाद क्या रिपोर्ट छपी थी...... हमको तो बहुत लोग याद नहीं रखना चाहता है जी....। दरअसल मुख्यमंत्री की पीड़ा इस बात को लेकर थी कि हमने इतना काम किया फिर भी सोशल मीडिया पर हमारा मजाक उड़ाया जाता है। सोशल मीडिया में मुख्यमंत्री के कार्यकाल पर सवाल खड़े करने वालों पर सीएम नीतीश ने अपरोक्ष रूप से हमला बोला। 


Find Us on Facebook

Trending News