पटना के डिप्टी मेयर की कुर्सी क्यों है खास? चार बातें जो आपको जानना जरूरी है और कौन बन सकता है डिप्टी मेयर

पटना के डिप्टी मेयर की कुर्सी क्यों है खास? चार बातें जो आपको जानना जरूरी है और कौन बन सकता है डिप्टी मेयर

PATNA : पटना नगर निगम के डिप्टी मेयर विनय कुमार पप्पू के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। जिस पर आज वोटिंग होनी है। बाताया जाता है कि इस बार उऩकी कुर्सी जानी तय मानी जा रही है।बताया जाता है कि डिप्टी मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लगाकर हटाने मे निगम के मेयर और अफसरों की बड़ी चाल है।

जानिए ये चार खेलक्यों खास है डिप्टी मेयर की कुर्सी

1.मेयर द्वारा तय योजनाओं की अनुशंसा में उनका समर्थन बेहद जरूरी है। नहीं होने पर मेयर के कामकाज पर सवाल उठता है। 

हैं। 

2.मेयर को हर हाल में एक ऐसा व्यक्ति डिप्टी मेयर की पद पर चाहिए जो आंख मुंदकर उनकी योजनाओं पर अपनी सहमति जाहिर करे। इससे पार्षदों का लाभ लगातार होता रहे। 

3.राजधानी के विकास के लिए सबसे जरूरी है एक मजबूत विपक्ष। यदि डिप्टी मेयर की कुर्सी जाती है तो 15 से 20 पार्षद हर हाल में योजनाओं की रेगुलर मॉनिटरिंग करेंगे। बोर्ड बैठक में गर्मागर्म बहस होगी। इसका सीधा लाभ शहर के विकास में होगा।

4.जिन पार्षदों को मूल रूप से राजनीति में आगे बढ़ना है, उन्हें इस कुर्सी से विशेष पहचान मिलती है। वर्तमान में भाजपा, कांग्रेस, राजद के लिए काम करने वाले पार्षद इसके मुख्य दावेदार हैं।

डिप्टी मेयर विनय कुमार को पद से हटाने के लिए आज पटना नगरनिगम की बैठक बुलाई गई है।बैठक में अविश्वास प्रस्ताव पेश होगा उसके बाद वोटिंग होगी।बताया जाता है कि मेयर गुट की तरफ से पूरी तैयारी हो गयी है।लिहाजा अधिक संभावना है कि डिप्टी मेयर की कुर्सी चली जाए।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News