प्रेम प्रसंग को लेकर पत्नी ने पति पर फेंकवाया तेज़ाब, थाने के बाहर पीड़ित की हुई मौत

प्रेम प्रसंग को लेकर पत्नी ने पति पर फेंकवाया तेज़ाब, थाने के बाहर पीड़ित की हुई मौत

PATNA : मसौढ़ी के धनरुआ थाना क्षेत्र के पभेड़ी मोड़ निवासी सुरेंद्र बिंद की आज अचानक से धनरुआ थाना परिसर में ही मौत हो गई। जिसके बाद मृतक के परिजन शव को अपने साथ अपने गाँव लेकर चले गए। पुलिस के लाख समझाने के बाद भी परिजन शव को पुलिस को सौपने के लिए तैयार नहीं हुए। परिजन पूरे मामले में गिरफ्तार सुरेंद्र बिंद की पत्नी की रिहाई की माँग को लेकर अड़े हुए हैं। मृतक सुरेंद्र बिंद के बेटे का आरोप है कि उसकी माँ निर्दोष है और उसे पूरे मामले में फंसाया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार मृतक सुरेंद्र बिंद के ऊपर तेजाब फेकने में खुद उसकी पत्नी शामिल थी। जिसके बाद पुलिस लगातार सुरेंद्र बिंद कि पत्नी काली देवी के खिलाफ सबूत जुटाने में जुटी हुई थी जैसे ही धनरूआ पुलिस को काली देवी की के खिलाफ पुख्ता सबूत मिला। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और धनरूआ थाने ले आई। 

जैसे ही अपनी मां की गिरफ्तारी की खबर कारी देवी के बेटे को मिली तो आज मंगलवार को उसके बेटे ने पटना के पीएमसीएच में इलाज रत सुरेंद्र बिंद को एकऑटो से धनरूआ थाना ले आया और कारी देवी की रिहाई की मांग पुलिस से करने लगा। इसी क्रम में सुरेंद्र बिंद की मौत हो गई। पूरे मामले में धनरुआ पुलिस की माने तो सुरेंद्र बिंद पर तेजाब फेंके जाने की साजिश खुद उसकी पत्नी कारी देवी नहीं रची थी। पुलिस के अनुसार कारी देवी का धनरुआ के डुमरा गांव निवासी राजमिस्त्री मिथिलेश रविदास के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। घटना की रात कारी देवी ने ही अपने पति सुरेंद्र बिंद को रास्ते से हटाने के लिए मिथिलेश रविदास के साथ मिलकर साजिश रची थी। मिथिलेश रविदास ने सोते अवस्था में सुरेंद्र बिंद के ऊपर तेजाब फेंक दिया था। जिसके बाद जख्मी हालत में सुरेंद्र बिंद को पटना के पीएमसीएच में भर्ती करवाया गया था। घटना के बाद सुरेंद्र सिंह की पत्नी कारी देवी अपने मायके चली गई थी। उस वक़्त सुरेंद्र बिंद के फर्द ब्यान पर गाँव के ही दिलबहार बिंद और जीतू बिंद के विरुद्ध धनरुआ थाना में प्राथिमिकी दर्ज करवाई गई थी। जिसके बाद धनरुआ पुलिस पूरे मामले की जाँच पड़ताल में जुटी हुई है।

पुलिस की माने तो जब सुरेंद्र बिंद की हालत गंभीर हो गई थी तो देखरेख के लिए उसकी पत्नी कारी देवी पीएमसीएच लौट आई थी। अपने पति की देखरेख में लगी हुई थी। हालाकी थाना परिसर में सुरेंद्र बिंद की मौत पर थानाध्यक्ष धनरूआ दीनानाथ सिंह ने साफ इंकार किया है। धनरूआ थाना अध्यक्ष दीनानाथ सिंह का कहना है कि सुरेंद्र बिंद की मौत थाने के बाहर में ही हुई है। फिलहाल मृतक के परिजन शव को अपने गांव ले जाकर मृतक की पत्नी काली देवी की रिहाई की मांग पर अड़े हुए हैं।


पटना से सुजीत की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News