'रामचंद्र' की संपत्ति की होगी जांच? जांच को लेकर आर्थिक अपराध इकाई में कंप्लेन

'रामचंद्र' की संपत्ति की होगी जांच? जांच को लेकर आर्थिक अपराध इकाई में कंप्लेन

पटना. संपत्ति विवाद में फंसे आरसीपी सिंह के खिलाफ आर्थिक अपराध इकाई में शिकायत की गयी है। इसमें आरसीपी पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने की प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की मांग की गयी है। साथ ही अवैध संपत्ति भी जब्त करने की मांग की गयी है। 

दरअसल औरंगाबाद के दाउदनगर के रजनीश कुमार ने आरसीपी सिंह के खिलाफ आर्थिक अपराध इकाई में शिकायत की है। उन्होंने शिकायत पत्र में कहा है कि यह मामला प्रथम दृष्टया एक लोक सेवक के द्वारा आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का है और आर्थिक अपराध से संबंधित है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आरसीपी सिंह ने चुनावी शपथ पत्र में इन संपत्तियों का विवरण छुपाया है। इसलिए इस मामले की जांच कर सुसंगत धारओं में प्राथमिकी दर्ज की जाए और आय से अधिक अवैध संपत्तियों को कानूनी तरीके से जब्त करने की कार्रवाई की जाए।

संपत्ति विवाद के बाद पहली बार आरसीपी सिंह मीडिया के सामने आये हैं। उन पर नालंदा में जदयू के प्रखंड अध्यक्ष राकेश मुखिया ने 2010 से 2022 तक काली कमाई कर संपत्ति आर्जित करने का आरोप लगाया है। राकेश मुखिया ने बाताया है कि आरसीपी सिंह ने अपनी बेटी और पत्नी के नाम से नालंदा में 52 जमीन की प्लॉट खरीदी है। यह सीएम नीतीश के जीरो टॉलरेंस नीति के खिलाफ है।

मीडिया संबोधन के दौरान आरसीपी सिंह ने सीएम नीतीश पर हमला करते हुए कहा कि वे सात जन्म में भी प्रधानमंत्री नहीं बन पाएंगे। वे सिर्फ दिखावा करते हैं। बिहार की जनता के लिए कुछ भी काम नहीं करते हैं। कहने के लिए तो कहते हैं कि बिहार की जनता के लिए 18 घंटे काम करते हैं। लेकिन सचाई यह है कि नीतीश कुमार तीन घंटे ही काम करते हैं।


Find Us on Facebook

Trending News