महागठबंधन सरकार के विश्वास मत जीतने के साथ ही बिहार विधानसभा की कार्यवाही 26 अगस्त तक स्थगित, जानिए कैसा रहा विशेष सत्र का पहला दिन

महागठबंधन सरकार के विश्वास मत जीतने के साथ ही बिहार विधानसभा की कार्यवाही 26 अगस्त तक स्थगित, जानिए कैसा रहा विशेष सत्र का पहला दिन

पटना. बिहार विधानसभा का विशेष सत्र 26 अगस्त तक स्थगित हो गया है। पहले यह विशेष सत्र दो दिनों का ही होने वाला था, लेकिन स्पीकर के चुनाव की वजह से सत्र को एक दिन के लिए बढ़ाया गया। कल विधानसभा के नये स्पीकर का नामाकंन होगा। इसके बाद 26 अगस्त को चुनाव होगा। वहीं कल विधान परिषद की कार्यवाही होगी।

विजय सिन्हा का इस्तीफा

आज बिहार विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र हंगामे के साथ शुरू हुआ। कार्यवाही की शुरुआत स्पीकर विजय सिन्हा के भाषण से हुई। इस दौरान सदन में विजय सिन्हा काफी आक्रमक दिखे। उन्होंने नई सरकार पर अपमान करने का आरोप लगाया। हालांकि भाषण के बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया और सदन की कार्यवाही 2 बजे के लिए स्थगित कर दिया।

 भाजपा का वॉक आउट

भोजनावकाश के बाद जब फिर सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो अध्यक्ष की कुर्सी पर तात्कालिक स्पीकर महेश्व हजारी बैठे। फिर कार्यवाही शुरू हुई तो सीएम नीतीश कुमार ने सदन में संबोधित किया। इस दौरान वे पीएम मोदी और भाजपा पर जमकर बरसे। उन्होंने भाजपा नेता पर हमला बोलते हुए कहा कि ये नेता जब तक मेरे खिलाफ नहीं बेलेंगे, तब तक इन्हें केंद्र में स्थान नहीं मिलने वाला है। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि इन्हें जो बोलना है, बोले। ये केंद्र में जाएंगे तो मुझे भी खुशी होगी। पीएम के खिलाफ बोले जाने के बाद भाजपा ने सदन वॉक आउट कर दिया और भाजपा विधायक सदन से निकल गये।

महागठबंधन सरकार ने जीता विश्वास मत

सीएम नीतीश के भाषण के बाद सदन में विश्वास मत की प्रक्रिया शुरू हुई। इसमें नीतीश के नेतृत्व में महागठबंधन सरकार ने ध्वनिमत से विश्वास मत जीत लिया है। विधानसभा में दो घंटे से ज्यादा समय तक चली चर्चा के बाद नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन ने बड़े बहुमत के साथ जीत हासिल की। इसके साथ ही नीतीश सरकार की नई पारी पर सदन ने मुहर लगाई।

स्पीकर के चुनाव के लिए बढ़ा सत्र

विजय सिन्हा के इस्तीफे के बाद बिहार विधानसभा में नये स्पीकर चुने जाने हैं। नये स्पीकर के चुनाव के लिए 25 अगस्त को नॉमिनेशन फाइल किया जाएगा। 26 अगस्त को नया स्पीकर चुना जाएगा। इसके लिए कैबिनेट की बैठक में सदन का विशेष सत्र एक दिन और बढ़ा दिया गया है। अभी सदन का विशेष सत्र दो दिन है।

सीबीआई छापे को लेकर हंगामा

वहीं विशेष सत्र शुरू होने से पहले आरजेडी नेताओं पर सीबीआई के छापे को लेकर हंगामा हुआ। सत्ता पक्ष ने कहा कि सरकार को अस्थिर करने के लिए बीजेपी ने सीबीआई को भेजा है। वहीं, भाजपा भी हमलावार है। भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही है। बीजेपी विधायकों ने कहा कि जो लूटा है है उसे लौटना पड़ेगा।

Find Us on Facebook

Trending News