फर्जी महिला समूहों को रोजगार मुहैया कराने के नाम पर कर ली 14 लाख की निकासी, मामले में चार कर्मी सहित ग्रुप लीडर पर मामला दर्ज

फर्जी महिला समूहों को रोजगार मुहैया कराने के नाम पर कर ली 14 लाख की निकासी, मामले में चार कर्मी सहित ग्रुप लीडर पर मामला दर्ज

KHAGDIYA : परबत्ता थाना क्षेत्र के इंद्रानगर रुपहली गांव में माइक्रोफाइनेंस लिमिटेड जो महिला को माइक्रो बैंकिंग स्कीमके तहत महिलाओं को समूह बनाकर रोजगार के लिए ऋण मुहैया करती है। इस कंपनी में 14 लाख से अधिक की राशि के फर्जी निकासी का मामला सामने आया है। पैसों की गड़बड़ी का खुलासा होने के बाद अब कंपनी की तरफ से चार कर्मियों सहित ग्रुप लीडर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. 

बताया गया कि कंपनी का कार्यालय परबत्ता थाना क्षेत्र के नौरंगा में स्थित है। यहां  एरिया माइक्रोफाइनेंस लिमिटेड के अधिकारी ने राहुल कुमार के द्वारा इस  फर्जीवाड़े का उद्भेदन किया गया। जिस के उपरांत कंम्पनी के पदाधिकारी रिजनल मैनेजर डिम्पी सिंह,  डिविजनल मैनेजर:- पंकज कुमार, आरसीएम :- अस्वनी कुमार, एसीएम :- चन्दरा रंजन, एम:- अविनीश कुमार, शाखा प्रबंधक  अभय कुमार एव विजिलेंस मनोज कुमार के द्वारा भी आंतरिक जांच किया गया।  तब  पाया गया कि दिनांक 30/01/2019 से 19/03/2021 तक चौदाह लाख आठ हजार तीन सौ बाइस रुपए चार कर्मी सहित महिला ग्रुप लीडर ने मिलकर षड़यंत्र एव के तहत फर्जीवाडा कर 72 काल्पनिक महिलाओं के नाम पर अवैध दस्तावेज के सहारे ऋण स्वीकृत कराकर कंपनी का कुल रुपए (1408322) चौदह लाख आठ हजार तीन सौ बाइस रुपए गबन किया है। 

 वही ग्रुप लीडर की पहचान बेगूसराय जिले के भावरा गांव निवासी रामेश्वर शर्मा के 26 वर्षिय पुत्र धर्मेंद्र कुमार, पूर्णया जिले के आदमपुर गांव निवासी जय नारायण के अमित कुमार पद (BCM) बिहार (ब्रांच क्रेडिट मेनेजर), सारण जिले के दाउदपुर थाना भैरोपुर गांव निवासी अरुण सिंह के 30 वर्षिय पुत्र प्रशांत कुमार, वहीं दूसरी ओर ग्रुप महिला लीडर खगड़िया जिले के परबत्ता थाना क्षेत्र के इंद्रानगर रुपहली निवासी मो. ताजुद्दी की पत्नी समीना खातून के पर गबन कर लिया है।


चार माह से फरार है महिला ग्रुप लीडर

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि महिला ग्रुप लीडर अपने घर मे ताला लगाकर चार महीने से फरार है। वहीं चार कर्मी सहित एक  ग्रुप महिला लीडर ने षड़यंत्र एव फर्जीवाडा कर 72 काल्पनिक महिलाओं के नाम पर अवैध दस्तावेज के सहारे ऋण स्वीकृत कराकर कंपनी का कुल रुपए (1408322) चौदाह लाख आठ हजार तीन सौ बाइस रुपए गबन किया जो में परबत्ता थाना में लिखित आवेदन दिया गया है। वही परबत्ता थाना प्रभारी जय प्रकाश यादव ने बताया कि फाइनेस कंम्पनी के अधिकारी के द्वारा लिखित आवेदन दिया गया है। जिसके बाद पुलिस ने अपनी जांच शुरू कर दी है। सभी आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लेंगे।

Find Us on Facebook

Trending News