गजब : जिसका चल रहा था श्राद्धकर्म, वह सामने आकर हो गया खड़ा, जानिए क्या है पूरा मामला....

गजब : जिसका चल रहा था श्राद्धकर्म, वह सामने आकर हो गया खड़ा, जानिए क्या है पूरा मामला....

MUZAFFARPUR : किसी व्यक्ति की मृत्यु हो चुकी हो। उसका अंतिम संस्कार हो चुका हो और श्राद्धकर्म का कार्यक्रम चल रहा हो वह अचानक सामने आ जाये। यह जानकर आपके होश उड़ जायेंगे, लेकिन एक ऐसा ही मामला मुजफ्फरपुर जिले से सामने आया है।  

मंगलवार को मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले के मुशहरी थाना क्षेत्र के बुधनगरा गांव में उस वक्त हड़ंकप मच गया जब एक व्यक्ति का श्राद्धकर्म का कार्यक्रम चल रहा था वह सकुशल सामने आ गया। मृतक को सामने देखते ही लोग अवाक रह गए। बात पूरे गांव में आग की तरह फैल गई। 

क्या था मामला 

दरअसल बीते 25 अगस्त   से गायब मुशहरी थाना क्षेत्र के बुधनगरा गांव का रहने वाला 49 वर्षीय संजीव कुमार लापता हो गया था। संजीव के पिता रिटायर्ड सैनिक रामसेवक ठाकुर द्वारा मुशहरी थाना में एक मामला 6 सितम्बर को दर्ज कराया। जिसमें उन्होंने बताया कि संजीव मंदबुद्धि का है अचानक पिछले कई दिनो से लापता है। 

इस घटना के बाद  सिकंदरपुर ओपी इलाके के अखाड़ा घाट पुल के समीप गंडक नदी किनारे लगे एक अधेड़ व्यक्ति का अज्ञात शव मिला था। जिसे पुलिस द्वारा कागजी प्रक्रिया पूरी कर पोस्टमार्टम के लिए SKMCH भेज दिया गया। 

जब संजीव के परिजनों को ऐसी सूचना मिली कि कोई अधेड़ का शव मिला है पहचान नहीं हुई है उसको SKMCH में भेजा गया है। उक्त सूचना पर लापता संजीव के पिता अपने रिश्तेदारों के साथ ठाकुर SKMCH पहुंचे और उक्त अज्ञात शव को अपना बेटे का शव बताकर ले लिया। 

रीतिरिवाजों के अनुसार उक्त अज्ञात शव का दाह संस्कार कर दिया। वहीं लापता संजीव उस वक्त घर आ पहुंचा जब उसका ही श्राद्धकर्म चल रहा था। 

इस पूरे घटनाक्रम में सबसे अहम सवाल यह है कि आखिर संजीव के घर वालों ने उस शव की पहचान कैसे कर डाली ? जिस शव का अंतिम संस्कार किया गया वह किसका था? 

मुजफ्फरपुर से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News