बिहार में 15 दिन में पांचवें एक्सप्रेस-वे बनाने की योजना पर काम हुआ शुरू, जानिए किन शहरों को जोड़ेगा यह मार्ग

बिहार में 15 दिन में पांचवें एक्सप्रेस-वे बनाने की योजना पर काम हुआ शुरू, जानिए किन शहरों को जोड़ेगा यह मार्ग

PATNA : बिहार में अभी ज्यादा दिन नहीं गुजरे हैं, जब यह सवाल पूछा गया था कि यहां यूपी की तरह कोई एक्सप्रेस-वे का निर्माण क्यों नहीं किया जा रहा है। अब स्थिति यह है कि 15 दिन में पांचवें एक्सप्रेस-वे को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है। इस पर केंद्र सरकार ने सैद्धांतिक सहमति दे दी है और डीपीआर बनाने की पक्रिया शुरू हो गयी है.

बताया जा रहा है कि यह एक्सप्रेस-वे गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच बनाया जाएगा और यह छह या आठ लेन चौड़ा होगा। इस एक्सप्रेस-वे को बनाने का काम 2025 तक पूरा कर लिया जाएगा।  इस एक्सप्रेस-वे से उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल के बीच बेहतर कनेक्टिविटी मिल सकेगी और राज्य के दस जिलों से होकर यह सड़क गुजरेगी, जिससे राज्य का आर्थिक विकास होगा. इस सड़क के तीन अलाइनमेट सामने आये है, जिनमे से एक पर निर्णय होगा.

एक्सप्रेस-वे सड़क की लंबाई करीब 514 किमी और अनुमानित लागत करीब 27 हजार 709 करोड़ रुपये की बताई गई है, वहीं, दूसरे अलाइनमेट में लंबाई करीब 473 किमी और अनुमानित लागत करीब 25 हजार 50 करोड रपये है. तीसरे अलाइनमेट मे लंबाई करीब 515 किमी और अनुमानित लागत करीब 25 हजार 161 करोड़ रुपये है.

600 किमी घट जाएगी गोरखपुर-सिलीगुड़ी की दूरी

नया एक्सप्रेस-वे बनने से गोरखपुर से सिलीगुड़ी की दूरी करीब 600 किमी घट जायेगी. फिलहाल गोरखपुर से सिलीगुड़ी के लिए फिलहाल फोरलेन एनएच-27 है, लेकिन इस पर गाड़ियों के आवागमन का दबाव अधिक होने से तेज रफ्तार से चलना संभव नहीं है। ऐसे में गोरखपुर से सिलीगुड़ी जाने में करीब 12-13 घंटे लग जाते हैं. जो कि नए एक्सप्रेस-वे से काफी हद तक कम हो जाएगा।

बिहार के इन जिलों से होगी कनेक्टविटी

प्रस्तावित एक्सप्रेस-वे गोरखपुर से गोपालगंज जिले में प्रवेश कर सीवान, छपरा, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, सहरसा, पूर्णिया व किशनगंज होते हुए सिलीगुड़ी जायेगा. इस एक्सप्रेस-वे का पूरा हिस्सा ग्रीनफील्ड होगा. सूत्रों के अनुसार इसमे से तीन में से एक अलाइनमेट का पस्ताव एनएचएआइ ने भारतमाला परियोजना फेज-2 के तहत केद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय को भेजा है.

बिहार में अब तक प्रस्तावित एक्सप्रेस-वे

बिहार में अब तक चार एक्सप्रेस-वे की घोषणा हो चुकी है, जिसमें सबसे पहले औरंगाबाद-जयनगर के बीच एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा। बताया जा रहा है कि इसके लिए जमीन अधिग्रहण का काम पूरा कर लिया गया है और जल्द ही निर्माण के लिए टेंडर जारी होनेवाला है। वहीं इसके अलावा दूसरे एक्सप्रेस-वे रक्सौल से हल्दिया, तीसरा पटना से कोलकाता और चौथा एक्सप्रेस- वे बक्सर से भागलपुर के बीच बनाया जाएगा। 

Find Us on Facebook

Trending News