बिहार में गरजे 'योगी',कहा- 'भ्रष्टाचार' ने बिहार की प्रतिभा को आगे बढ़ने से रोक दिया

बिहार में गरजे 'योगी',कहा- 'भ्रष्टाचार' ने  बिहार की प्रतिभा को आगे बढ़ने से रोक दिया

PATNA: देश के गृह मंत्री अमित शाह और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ आज जयप्रकाश नारायण की जन्म स्थली सिताब दियारा पहुंचे। वहां जय प्रकाश नारायण की प्रतिमा का अनावरण किया। सभा को संबोधित करते हुए यूपी सीएम योगी ने कहा कि लोकनायक की पावन जयंती के अवसर पर उनकी भव्य प्रतिमा का अनावरण कार्यक्रम में शामिल होने का मौका मिला है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मां गंगा और मां सरयू का आशीर्वाद इस पूरे क्षेत्र को निरंतर प्राप्त होता है. इस इलाके को प्रतिवर्ष बाढ़ जैसी त्रासदी का सामना करना पड़ता है.यही वजह है कि यहां के लोगों के जज्बे को अलग बनाया है. सरकार से बाहर रह कर जिन महापुरुषों ने स्वस्थ चिंतन को आगे बढ़ाया था वह जयप्रकाश नारायण,पंडित दीनदयाल उपाध्याय, राम मनोहर लोहिया जैसे महापुरुष थे. उस समय की सरकार में लोकतंत्र कुचलने का काम किया तो फिर बिहार शांत कैसे रह सकता था. योगी ने कहा कि देश 1947 में आजाद हुआ लेकिन बलिया ने तो 1942 में ही अपने आप को आजाद घोषित कर दिया था. बिहार लोकतंत्र के प्रति कितना सजग यह सचमुच देखने लायक है. उन्होंने कांग्रेस शासनकाल और इमरजेंसी को याद करते हुए कहा कि उस समय लोकतंत्र को कुचलने का कुत्सित प्रयास हुआ था. तब जयप्रकाश नारायण के नेतृत्व में लोकतंत्र को बचाने का आंदोलन प्रारंभ किया गया था, वह अभूतपूर्व था. देश की आजादी के बाद इतना बड़ा सशक्त आंदोलन जिसने तत्कालीन सरकार को घुटने टेकने को मजबूर कर दिया था और सरकार को जाना पड़ा था.

नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा की सरकार जयप्रकाश नारायण के सपनों को साकार कर रही है. समाज के सभी तबकों के उत्थान का काम किया जा रहा है. योगी ने उज्ज्वला योजना से लेकर गरीबों के लिए के मकान समेत कई अन्य योजनाओं का बखान किया . उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने बिना भेदभाव के सभी वर्ग के लोगों को समान अवसर दिया है, सबके लिए विकास किए हैं.

 योगी ने बिहार के सीएम नीतीश और लालूपरिवार का नाम लिये बिना हमला बोला। कहा कि  जो लोग जयप्रकाश और लोहिया जी के नाम पर राजनीति को आगे बढ़ाते रहे हैं, उनके कारनामों को हम सब जानते हैं. पूरी देश-दुनिया जान रही है. वे राजनीति के अपराधीकरण के धुर विरोधी थे. लेकिन आज राजनीति का अपराधीकरण और भ्रष्टाचार बिहार के विकास को बाधित कर रहा है. आज से कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश में राजनीति का अपराधीकरण हुआ था. भ्रष्टाचार और राजनीति एक साथ मिल जाती है तो वह खाद का काम करता है. बिहार जहां शार्प ब्रेन है, जहां की बौद्धिक क्षमता काफी है. लेकिन भ्रष्टाचार ने बिहार की प्रतिभा को आगे बढ़ने से रोक दिया है। 

बिहार के नौजवानों को जब भी अवसर मिला देश और दुनिया को अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया. जयप्रकाश नारायण की जन्मस्थली के गांव के बाद वाली भूमि उत्तर प्रदेश की है. इस इलाके में बाढ़ की समस्या का समाधान पर काम किये जायेंगे। उत्तर प्रदेश के अंदर 2017 से पहले 38 जनपद में भीषण बाढ़ आती थी. आज केवल तीन से चार ऐसे जनपद हैं जहां बाढ़ आती है .अगले एक-दो वर्षों में हम सदा के लिए बाढ़ से मुक्त कर देंगे. यह इलाका हर साल बाढ़ की त्रासदी को झेलने को विवश है हम इस इलाके को भी बाहर से मुक्त करेंगे. साथ ही समग्र विकास आगे बढ़ाने का काम करेंगे.


Find Us on Facebook

Trending News