कांट्रेक्ट किलरों के बारे में बहुत सुना होगा, लेकिन अब बिहार में 'कांट्रेक्ट पर लुटेरों का गैंग' भी उपलब्ध है, पुलिस भी हो गई हैरान

कांट्रेक्ट किलरों के बारे में बहुत सुना होगा, लेकिन अब बिहार में 'कांट्रेक्ट पर लुटेरों का गैंग' भी उपलब्ध है, पुलिस भी हो गई हैरान

KATIHAR :  बिहार में अब कांट्रेक्ट पर हत्या की घटनाएं होती थी, लेकिन अब कांट्रेक्ट पर लूटपाट की घटनाओं को अंजाम दिया जाने लगा है। जिसमें कांट्रेक्ट देनेवाला किसी खास को लूटने के लिए एक दूसरे गैंग को काम देता है, बदले में लूट का कुछ हिस्सा एक मुश्त उन गैंग को दी जाती है। ऐसे ही एक गैंग को पकड़ने में कटिहार पुलिस ने पकड़ने में सफलता हासिल की है। बताया गया कि पिछले दिनों इन्ही 'कॉन्ट्रैक्ट के लुटेरों' के सहारे सीएसपी संचालक से लूट  की वारदात को अंजाम दिया गया था। जिसमें अब पुलिस ने लूट के मास्टरमाइंड सहित पांचो लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया है । 30 अगस्त को कटिहार के मनसाही थाना क्षेत्र के हरिप्रसाद धर्म कांटा के सामने हुए इस लूट कांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने लूटे गए रकम में से एक लाख पैसठ हज़ार नकद भी बरामद कर लिया है।

घटना के बारे में बताया जा रहा है 30 अगस्त को सीएसपी संचालक मोहम्मद हजरत अपने भाई के साथ मोटरसाइकिल से सीएसपी संचालन के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा चित्तौड़िया शाखा से तीन लाख तीस हजार रुपया निकाल कर घर लौट रहे थे, इस दौरान मनिहारी दिलारपुर पेची टोला के रहने वाले सीएसपी संचालक हजरत को मनसाही थाना क्षेत्र के हरिप्रसाद धर्म कांटा के पास दो मोटरसाइकिल में सवार चार अपराधियों ने हथियार के भय दिखाकर उनसे रुपयों से भरा बैग और उनका मोबाइल लूट लिया घटना के बाद से ही पुलिस इस मामले को लेकर काफी गंभीरता से तफ्तीश शुरू कर दिया था और लगातार कई दिनों तक गहराई से तफ्तीश और अपने कई तरह के सूत्र के माध्यम से पुलिस इस घटना के मास्टरमाइंड मोहम्मद आमिर तक जा पहुंचा पुलिस के माने तो आमीर ही इस घटना के मास्टरमाइंड लाइनर है और उसी ने कॉन्ट्रैक्ट पर मोहम्मद सलीम, मोहम्मद जावेद, जिलानी आलम और गोविंद कुमार को भाड़े पर लाकर इस अपराध को अंजाम दिया था फिलहाल सभी अपराधी पुलिस के हत्थे चढ़ा हुआ है और गिरफ्तार अपराधी भी घटना से जुड़कर अपना कबूल नामा स्वीकार कर लिया है।

पड़ोसी ने पूर्णिया से बुलाए थे लुटेरे

वहीं इस लूट कांड के उद्भेदन करते हुए,कटिहार एसपी ने कहा कि लूट के बाद से ही कटिहार पुलिस के एक स्पेशल टीम डीएसपी के नेतृत्व में इस पर काम कर रहा था और मानसाही  पुलिस ने पहले लूट के मास्टरमाइंड आमिर को गिरफ्तार किया है और फिर धीरे धीरे तीन लाख तीस हजार लूट कांड का पूरा खुलासा हो गया, पुलिस में इस मामले में कुल पांच लोगों को गिरफ्तार करते हुए लूटी गई रकम में से एक लाख पैंसठ हज़ार नगद, घटना में इस्तेमाल किए गए तीन मोटरसाइकिल, पांच मोबाइल और घटना के समय पहने हुए अपराधियों के कपड़ों को भी बरामद कर लिया है।

 कटिहार एसपी ने भी मामले के खुलासे के दौरान लूट के शिकार मोहम्मद हजरत के पड़ोसी आमिर के द्वारा ही घटना को अंजाम देने के लिए भाड़े पर पड़ोस के जिला पूर्णिया से चार अपराधियों को लाने की बात को कहा है, उन्होंने इन अपराधियों को लूट की घटना अंजाम देने के बाद कॉन्ट्रैक्ट के तहत पचास हज़ार से एक लाख रुपया देने के लिए जानकारी भी साझा किया।

चौंक गई पुलिस

बिहार में तेजी से बढ़ते क्राइम ग्राफ के बीच कटिहार पुलिस के यह उपलब्धि निश्चित तौर पर बेहद खास है लेकिन एक बात को लेकर पुलिस को और चौकन्ना होना पड़ेगा कि अपराधी अब लूट की घटना को अंजाम देने के लिए भी कांट्रैक्ट किलर के तर्ज पर 'कॉन्ट्रैक्ट के लूटेरा' दूसरे जिले से ला रहे हैं, जिस कारण से वारदात के बाद घटना के उद्भेदन में परेशानी हो सकता है, इसके लिए घटना को रोकने के लिए भी बड़ी रणनीति पर काम करना चाहिए।

REPORTED BY SHAYAM

Find Us on Facebook

Trending News