नवादा में अंधविश्वास में गई युवक की जान, लोगों ने की पीट-पीटकर हत्या

नवादा में अंधविश्वास में गई युवक की जान, लोगों ने की पीट-पीटकर हत्या

NAWADA: आज के ज़माने में विज्ञान काफी तरक्की कर चुका है. इसके बावजूद समाज में आज भी अंधविश्वास जैसी कुरीति मौजूद है. अन्धविश्वास के कारण नवादा जिले में एक युवक की जान चले जाने का मामला प्रकाश में आया है. घटना हिसुआ थाना क्षेत्र के तुंगी टोला की है. 

घटना के बारे में बताया जाता है कि गाँव के बलदेव मांझी की पुत्री उर्मीला देवी पिछले कई महीनों से बीमार है. वह घर में तरह तरह की हरकत करती है. उसी गाँव का कैलाश मांझी ओझा का काम करता है. बलदेव मांझी और उसकी पत्नी इसके लिए कैलाश को ही जिम्मेवार मानते हैं. उनका मानना है की उसी ने बेटी पर भूत लगा दिया है. गुरूवार को बलदेव मांझी और उनकी पत्नी कैलाश के घर जाकर पूछताछ करने लगे. इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया. बलदेव मांझी और उसके परिवार के अन्य लोग आग बबुला हो गए. वे कैलाश मांझी के साथ मारपीट करने लगे. कैलाश के साथ इतनी मारपीट की गई की उसकी मौत हो गई. 

सूचना मिलते ही हिसुआ के थानाध्यक्ष राज कुमार दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे. उन्होंने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वहीं उन्होंने कहा कि एक महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. मृतक का बेटा श्रवण मांझी ने बताया कि पिंटू मांझी, भोजन मांझी सहित पांच छह लोगों ने मिलकर उसके पिता की हत्या की है. 

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News