पटना में युवक की गोली मारकर की हत्या, दोस्त के साथ सट्टे पर लगाता था पैसा

पटना में युवक की गोली मारकर की हत्या, दोस्त के साथ सट्टे पर लगाता था पैसा

PATNA : पटना के राम कृष्णा नगर थाना इलाके के एकता विहार कॉलोनी में मंगलवार की रात  अपराधियों ने एक युवक की गोली मार कर हत्या कर दी। युवक की पहचान सन्नी  कुमार राम कृष्णा नगर थाना इलाके के रहने वाले में की गई है। बताया गया कि सन्नी कुमार  ऑनलाइन  क्रिकेट मैच  सट्टा का काम किया करता था।

 पुलिस अधिकारी ने बताया है कि ۔शुरुआती जांच में सन्नी  कुमार के हत्या का कारण पार्टनर के साथ रुपए लेनदेन का लग रहा है ۔वही परिजन ने भी बताया है कि हैप्पी पार्टनर था  हत्या की वजह  पाटनर हैप्पी ही बता सकता है।

सन्नी के पिता नवल राय ने बताया कि वह जमीन खरीद बिक्री के ऑफिस में बैठते हैं और दलाली से जो थोड़ा बहुत कमाई होती है उसी से उनका परिवार चलता है. उनका बेटा सन्नी बीए पास है और बुलेट लेकर दोस्तों के साथ घूमता रहता था. तीन बेटों में सन्नी सबसे छोटा था जबकि दो और बेटे अमरजीत और विकास हैं।

रात को कॉल आने के बाद निकता था घऱ से

मृतक के पिता का कहना है कि सोमवार देर रात करीब 10 बजे परिवार वाले घर पर साथ में जब खाना खा रहे थे उसी समय सन्नी के मोबाइल पर किसी ने कॉल कर बातचीत की थी. सोमवार रात के समय जो बातचीत हुई थी उसके मुताबिक परिजनों ने सुना था कि कोई उसे बुला रहा है. इस पर सन्नी ने कहा था कि कल यानी मंगलवार सुबह 9 बजे उनसे मिलेगा. मंगलवार सुबह सन्नी के घर से निकलने के घंटों बाद भी कोई अता-पता नहीं चला तो उसके मोबाइल पर परिजन कॉल लगाने लगे.

कॉल करने पर किसी ने नहीं रिसीव किया फोन

सन्नी के पिता ने बताया कि दोपहर तक उसके बेटे का मोबाइल बजता रहा है लेकिन किसी ने रिसीव नहीं किया. इस बीच सन्नी के लापता होने की सूचना जानकारी पुलिस को दी गयी। नवल राय ने बताया कि राम कृष्णा नगर इलाके में ही जहां पर उनका घर है, वहां से 15 से 20 घर की दूरी पर एक मकान में उनके बेटे की गोली मारकर हत्या कर फेंका हुआ शव कमरे से बरामद हो गया। देर शाम जैसे ही सन्नी की हत्या कर कमरे में पड़ा शव एक कमरे से मिलने की सूचना मिली की पूरे इलाके में माहौल गरमा गया।

स्थानीय लोगों ने किया हंगामा

मौके पर पहुंची राम कृष्णा नगर थाना पुलिस छानबीन में जुट गयी. इस दौरान स्थानीय लोगों ने शव पोस्टमार्टम में पुलिस को ले जाने से यह कहकर रोक दिया कि जब तक अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होगी शव पुलिस को नहीं सौंपा जायेगा. करीब दो-तीन घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस किसी तरह शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा. वहीं घटना को लेकर कई तरह की चर्चा चल रही है. पुलिस प्रेम प्रसंग समेत हर पहलू को ध्यान में रखकर जांच कर रही है.

Find Us on Facebook

Trending News