पटना से गायब दो युवकों का नहीं मिला सुराग, 11 दिन बाद भी पुलिस क्वे हाथ खाली

पटना से गायब दो युवकों का नहीं मिला सुराग, 11 दिन बाद भी पुलिस क्वे हाथ खाली

PATNA : बिहार के फिंजा में यह सवाल तैरने लगा है कि क्या एक बार फिर सूबे में अपहरण उद्योग शुरू हो गया है. लगातार हो रहे अपहरण से लोगों में यह सवाल उठने लगा है. चार दिनों के अंदर मनेर से दो युवकों का अपहरण हो गया. लेकिन पुलिस के हाथ अबतक खाली है. 

पहली घटना 11जनवरी की है. जहाँ मनेर के रामपुर से  सोनू कुमार (22 वर्ष) का अपहरण हो गया. सोनू का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है. सोनू के लापता होने का आज ग्यारहवां दिन है. सोनू के नहीं मिलने से स्वजनों को तरह तरह की चिंता हो रही है. लापता युवक के मां दीपा देवी ने तीन लोगों पर सोनू का अपहरण  करने का मामला मनेर थाना में 11जनवरी को दर्ज कराया है. इधर मनेर पुलिस ने सोनू के गांव रामपुर निवासी अपहरण के आरोपी सत्यदेव सिंह पिता शिव बिनोद सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. लेकिन जेल भेजे गए सत्यदेव सिंह से भी पुलिस सोनू के बारे में कुछ खास नहीं उगलवा सकी.  

 इस घटना के ठीक तीन दिन बाद मनेर थाना क्षेत्र के बस्ती रोड काजी मुहल्ला निवासी हरिनारायण विश्कर्मा का पुत्र राजन विश्कर्मा  (30 वर्ष) 14 जनवरी से ही लापता है. एक सप्ताह  बीतने के बाद भी राजन का कुछ पता नहीं चला है. पुलिस को भी राजन के बारे में कोई सुराग नहीं मिल रहा है. राजन के परिजनों ने मनेर थाना में अपहरण का मामला दर्ज कराते हुए बिहटा - खगौल रोड में पैनाल स्थित वाटर पार्क के मालिक बन्धुओं को अभियुक्त बनाया है. लापता युवक पूर्व में पैनाल स्थित वाटर पार्क में प्रबंधक का काम करता था. लेकिन इधर डेढ़ साल से वाटर पार्क का काम छोड़कर घर पर ही रहकर ही काम की खोज में था. लापता युवक के पिता हरिनारायण विश्वकर्मा  का कहना कहना है कि 10 जनवरी की रात करीब दस बजे पटना महेश नगर , रोड नंबर 2 के निवासी सह वाटर पार्क के मालिक राहुल सिन्हा एवं रोहित सिन्हा हमारे पुत्र राजन को खोजते हुए हमारे मनेर घर पहुंचे. उनसे आने का कारण पूछा गया तो दोनो भाई गाली गलौज करते हुए धमकी दिया कि राजन विश्वकर्मा कहां है, उसको हमारे हवाले कर दो वरना उसे जान से हाथ धोना पड़ेगा. धमकी देते हुए दोनों भाई मेरे घर से चले गए. 14 जनवरी को मेरा पुत्र राजन विश्वकर्मा पटना के लिए निकला तभी से वह लापता है. इसके बाद मेरे पुत्र ने मैसेज दिया कि चार लाख रुपया या पुलिस लेकर राहुल के घर पर आईये. हमको ये लोग पकड़कर रखे हुए है. हमको फोन मत कीजियेगा. इसके बाद से राजन का कुछ पता नहीं चल रहा है. 


गुरुवार को दानापुर के एएसपी विनीत कुमार ने आरोपी वाटर पार्क के मालिक बन्धुओं को बुलाकर पूछताछ की है. एएसपी ने गुरुवार को ही देर शाम अपहृत राजन के घर मनेर जाकर स्वजनों से लम्बी पूछताछ की,लेकिन पुलिस को अबतक कोई सफलता हांथ नहीं लगी है. इधर सात दिन बीतने के बाद भी युवक का कोई सुराग नहीं मिला है. पुलिस भी अभी तक यह कन्फर्म नहीं कर पाई है कि यह अपहरण है या मिसिंग. पटना पश्चिम के आरक्षी अधीक्षक अशोक मिश्रा कहते हैं कि कि घटना की प्राथमिकी मनेर थाना में दर्ज किया गया है. युवक का अपहरण हुआ है, लापता है या मिसिंग है. इसकी जांच चल रही है. एसपी ने यह भी बताया कि आरोपी के घर से युवक का मोबाईल फोन मिला है. 


Find Us on Facebook

Trending News