देश विरोधी नफरत फैलाने का काम कर रहे बिहार के 10 लोग गिरिडीह से गिरफ्तार, मुसलमानों को भड़काने का आरोप

देश विरोधी नफरत फैलाने का काम कर रहे बिहार के 10 लोग गिरिडीह से गिरफ्तार, मुसलमानों को भड़काने का आरोप

पटना. देश विरोधी नफरत फैलाने के आरोप में झारखंड पुलिस ने गिरिडीह से 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरिडीह जिले के नगर थाना की पुलिस द्वारा गिरफ्तार सभी लोग बिहार के दरभंगा, मुजफ्फरपुर और रांची के बताए जा रहे हैं। सभी पिछले कुछ दिनों से अल्पसंख्यक समुदाय के युवाओं के बीच देश विरोधी नफरत फैलाने का काम कर रहे थे। सभी को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ही पकड़ कर पुलिस के हवाले किया। मोहम्मद इकबाल, मुदस्सीर, मोहम्मद इरफान, मोहम्मद माज, अफजल, नूरुल इस्लाम, मोहम्मद हनीफ, मोहम्मद हैदर, मोहम्मद तौसीफ, मोहम्मद सरफराज, अम्मार हसन समेत 10 लोग गिरफ्तार हुए हैं। सभी के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत पहुंचाने, मारपीट समेत अन्य धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस जेल भेजने की तैयारी कर रही है। 10 दिन पूर्व भी नगर थाना की पुलिस ने देश विरोधी भावना भड़काने के आरोप में चार युवकों को जेल भेजा था। 

स्थानीय लोगों के अनुसार मोहम्मद शकील और मोहम्मद हनीफ समाज के युवाओं को धर्म के नाम पर भड़का रहे थे। दोनों के साथ और भी कई लोग शामिल थे जो जगह-जगह पर चोरी छिपे मीटिंग कर रहे थे। इनके चंगुल में कई युवक फंस चुके है। इनकी मानसिकता का पता चलने पर लोग विरोध में उतर। आए तब उनके द्वारा धमकी दी जाने लगी। भण्डारडीह मसजिद के पास युवको ने तारिक और सरफराज नामक दो युवकों को जान से मारने की धमकी दी। फिर उसपर लोहे के रड दे हमला कर दिया। जिसके बाद समाज के लोग एकजुट हुए और मारपीट करने वालों को पकड़ लिया। फिर पुलिस मौके पर पहुंची और कुछ युवकों को गिरफ्तार कर थाना ले आई। जिसके बाद और भी कई युवकों को गिरफ्तार किया। 

पता चला को भण्डारडीह के एक आवास में रहकर कम पढ़े लिखे युवकों का ब्रेन वाश कर संगठन में शामिल करने की साजिश रची जा रही थी। कम पढ़े लिखे लोगों को जबरदस्ती शकिल बिन हनीफ को अपना रहनुमा मानने के लिए बरगलाने का काम किया जा रहा था। मामले को लेकर मुसलिम समाज के लोगों ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग पुलिस से की है। समाज के लोगों का कहना है कि ऐसे लोगों को समझ बरदास्त नहीं करेगा। 

नगर थाना प्रभारी राम नारायण चौधरी ने बताया कि 10 लोगों को जेल भेजा जा रहा है। पिछले 8 माह से सभी कम पढ़े लिखे लोगों को भड़काने का काम कर रहे थे। 10 दिनों पूर्व भी इसी तरह के मामले में 4 लोगों को जेल भेजा गया था। जबकि वर्ष 2018 में भी इसी तरह का मामला दर्ज किया गया था। स्थानीय लोगों ने युवकों द्वारा बताया गया था कि बाहर से आए कुछ लोगों द्वारा देश विरोधी भावना भड़काने का काम इलाके में किया जा रहा है। जिसके बाद 10 युवकों को गिरफ्तार किया गया।


Find Us on Facebook

Trending News