15 महीने बाद शिक्षक के हत्यारे हुए गिरफ्तार, पुलिस ने कहा - हत्या में 11 लोगों की संलिप्तता, पांच लाख की मिली थी सुपारी

15 महीने बाद शिक्षक के हत्यारे हुए गिरफ्तार, पुलिस ने कहा - हत्या में 11 लोगों की संलिप्तता, पांच लाख की मिली थी सुपारी

मधेपुरा/सुपौल। जिले के शंकरपुर के चर्चित शिक्षक हत्या कांड का मुख्य शूटर कुख्यात अपराधी और हत्या, लूट के कई मामले के वांछित नीतीश कुमार को हथियार और गोली के साथ शंकरपुर पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार किया है.

प्रभारी एसपी सह एसडीपीओ अजय कुमार यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुलासा करते हुए कहा कि गुरूवार को मामले का अनुसंधान कर रहे सब इंस्पेक्टर राजकिशोर मंडल को गुप्त सूचना मिली कि शिक्षक राम बाबू यादव हत्या कांड का मुख्य शूटर नीतीश कुमार शंकरपुर थाना क्षेत्र के रायभीड़ के छपड़िया टोला के आसपास देखा गया. सूचना मिलते ही सब इंस्पेक्टर राज किशोर पुलिस बल के साथ सूचना स्थल पहुंचे तो मंदिर स्थित बहियार में बने घर से एक युवक पुलिस को देखकर भागने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने उसे दबोच लिया. पकड़े गए युवक की पहचान नीतीश के रूप में हुई. तलाशी के क्रम में एक देशी कट्टा दो गोली और दो बाइक को पुलिस ने बरामद किया.

प्रभारी एसपी  ने बताया कि गिरफ्तार नीतीश घटना का मुख्य शूटर है इस ने शिक्षक पर गोली चलाने की बात कबूल किया है. नीतीश ने पूछताछ के क्रम में बताया कि शिक्षक की हत्या की सुपारी 15 लाख रुपये में तय हुई थी, जिसमें पांच लाख मिला था.

प्रभारी एसपी यादव ने बताया कि शिक्षक की हत्या में चार-पांच सफेद पोश के नामों का नीतीश ने खुलासा किया है, जिसने हत्या की सुपारी दी थी. हत्या का कारण अबतक जो तथ्य सामने आया है उसमे पंचायत चुनाव में राजनीतिक विवाद भी एक कारण है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार नीतीश की कुख्यात अपराधी के रूप में पहचान हुई है. इस पर हत्या, लूट सहित अन्य मामला दर्ज है. नीतीश राय भीड़ का रहने वाला है. पुलिस के जांच में नीतीश की संलिप्ता सामने आने पर इसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापामारी की जा रही थी लेकिन हर बार नीतीश पुलिस के पहुंचने से पहले ही स्थान बदल लेता था. उन्होंने बताया कि शिक्षक हत्या कांड के अनुसंधान मे 11 लोगों की संलिप्तता होने की बात सामने आयी, जिसमें चार को जेल भेजा गया, पांचवा नीतीश की लम्बे समय से तलाश की जा रही थी.

प्रभारी एसपी अजय कुमार ने घटना में शामिल सफेदपोश का नाम का यह कहकर खुलासा नहीं किया कि वह फरार हो जायेगा. उन्होंने बताया कि शूटर की गिरफ्तारी में सब इंस्पेक्टर राज किशोर मंडल, सिपाही अरविन्द कुमार, राम नन्दन कुमार सहित अन्य पुलिस बल शामिल थे. 

मालूम हो कि शिक्षक राम बाबू की हत्या 23 नवम्बर 2019 को अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी. हत्या के बाद पुलिस के खिलाफ जमकर विरोध किया गया था. आक्रोशित ग्रामीणों ने हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग को लेकर जमकर बवाल किया था.


Find Us on Facebook

Trending News