यूपी के 15 गाँव बिहार और बिहार के 7 गाँव यूपी में होंगे शामिल, तिरहुत के प्रमंडलीय आयुक्त ने बेतिया डीएम से मांगी रिपोर्ट

यूपी के 15 गाँव बिहार और बिहार के 7 गाँव यूपी में होंगे शामिल, तिरहुत के प्रमंडलीय आयुक्त ने बेतिया डीएम से मांगी रिपोर्ट

BETTIAH : तिरहुत प्रमंडल के आयुक्त ने जिलाधिकारी बेतिया को पत्र भेज सीमावर्ती उत्तर प्रदेश के 15 गांव को बिहार में हस्तांतरण करने और बिहार के 7 गांव को उत्तर प्रदेश में स्थानांतरण करने से संबंधित प्रस्ताव भेजा है। गौरतलब हो कि तिरहुत प्रमंडल आयुक्त मुजफ्फरपुर के दिए गए निर्देश में पत्रांक 23 NW 7021 के आलोक में सीमावर्ती उत्तर प्रदेश एवं बिहार के सीमावर्ती गांव के हस्तानांतरण का प्रस्ताव है। उपर्युक्त विषय के संबंध में दिए गए पत्र के द्वारा उत्तर प्रदेश के महराजगंज तहसील की आठ गांव और कुशीनगर जनपद की सात गांव को बिहार में शामिल करने का प्रस्ताव है। साथ ही साथ पश्चिम चम्पारण जिले के सात गांव को उत्तर प्रदेश में शामिल करने का प्रस्ताव है। सरकार के संयुक्त सचिव, गृह विभाग ( विशेष शाखा ), बिहार , पटना का पत्र संख्या - स्टे / झा ० / वि०-05 / 2021-8993 दिनांक -19 / 11 / 2021 के आलोक में सर्वे प्लॉट पर दोनों ( उत्तर प्रदेश का 15 गांव को बिहार में हस्तानांतरण के लिए प्रस्ताव एवं बिहार राज्य के 07 गांव को उत्तर प्रदेश में हस्तानांतरण के लिए प्रस्ताव ) को सर्वे मैप में प्लॉट कर प्रस्तावित स्थल का स्वयं भ्रमण कर सुविचारित मंतव्य से अधोहस्ताक्षरी को अवगत कराने का निर्देशित किया गया है। 

इस बाबत बगहा दो सीओ राजीव रंजन श्रीवास्तव ने ऑफ द रिकॉर्ड बताया कि विभागीय स्तर पर पत्र प्राप्त हुआ है। इसके आलोक में वरीय अधिकारियों के साथ स्थल भूमिका की जांच करते हुए संबंधित रिपोर्ट को जिलाधिकारी को सुपुर्द किया जाएगा। ताकि विभागीय स्तर पर अग्रेतर  कार्रवाई की जा सके। वही इस मामले को लेकर   मंझरिया के ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने कहा की जब गन्ना, गंडक व दस्युओं से परेशान हो कर लोग पलायन कर रहे थे। तब क्यों अदलाबदली नहीं हुई। आज सभी सुविधाओं की उपलब्धता के बाद ऐसा क्यों। उन्होंने इस मामले को लेकर आंदोलन की चेतावनी दी है।

जिला मुख्यालय से पिपरासी प्रखण्ड की दूरी लगभग 120 किलो मीटर एवं बगहा अनुमंडल से 40 किलोमीटर की दूरी है। उत्तर प्रदेश होते हुए पिपरासी प्रखण्ड में जाना पड़ता है। बगहा और पिपरासी के बीच में गण्डक नदी है। गण्डक नदी और उत्तर प्रदेश के भौगोलिक कारण को देखते हुये सरकार अपना विचार कर रही है। पिपरासी प्रखंड से उत्तर प्रदेश के खड्ड  प्रखंड 10 किलोमीटर तथा जिला मुख्यालय कुशीनगर 55 किलोमीटर पड़ता है। गण्डक नदी को लेकर बाढ के दिनों में राहत सामग्री पहुंचाने में काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। इस संबंध में वाल्मीकिनगर के जदयू विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ रिंकू सिंह ने बताया की इस संबंध में बिहार की मुख्यमंत्री से बात की जाएगी। 

बेतिया से आशीष कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News