औरंगाबाद में जहरीली शराब पीने से 3 लोगों की मौत, विपक्ष ने राज्य सरकार पर साधा जमकर निशाना

औरंगाबाद में जहरीली शराब पीने से 3 लोगों की मौत, विपक्ष ने राज्य सरकार पर साधा जमकर निशाना

AURANGABAD : बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी है और पुलिस शराबबंदी का पालन कराने के लिए प्रत्येक दिन शराबियों और शराब कारोबारियों को जेल भेजने का कार्य कर रही है। बिहार में कहीं न कहीं प्रत्येक दिन ज़हरीली शराब पीने से मौत की खबर सुर्खियों में रहती है। आज ऐसा ही मामला औरंगाबाद जिले के मदनपुर थाना अंतर्गत रानीगंज में सामने आया है जहां शराब पीने से तीन लोगों की मौत हो गई है। रफीगंज विधानसभा के निर्दलीय प्रत्याशी रहे प्रमोद सिंह ने सरकार पर जमकर निशाना साधा है और मामले में पुलिस और उत्पाद विभाग को भी कटघरे में खड़ा कर दिया है। 

उन्होंने कहा की नीतीश कुमार की शराबबंदी की आड़ में पुलिस और उत्पाद विभाग की मिलीभगत से जहरीली शराब का कारोबार धड़ल्ले से फल फूल रहा है। शराब पीने से लोगो की मौते हो रही है और सरकार शराबबंदी के नाम पर सिर्फ और सिर्फ अपनी पीठ थपथपा रही है। उन्होंने कहा कि मदनपुर प्रखण्ड में कृष्णा रविदास पिता स्व०राजेन्द्र दास निवासी रानीगंज ,पिंटू चन्द्रवंशी पिता सुदामा चन्द्रवंशी निवासी सिंदुआरा और संजय रविदास पिता धनेश्वर राम जो कि झारखंड के फुसरो के रहने वाले है सभी लोगो की मौत हो गई। प्रमोद सिंह ने कहा कि मरने वाले सभी लोगो ने शराब का सेवन किया था। शराब पीने से ही इनकी मौत हुई है। मामले का उच्चस्तरिय जाँच होना चाहिए। सरकार की नाकामी है कि मदनपुर में लगातार जहरीली शराब बिक रही है। शराबबंदी तो केवल नाम का है। वह कागजो पर है।

प्रमोद सिंह ने आरोप लगाया है कि मदनपुर थाना में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। मदनपुर थाना की पुलिस को सिर्फ पैसा कमाने से मतलब है। मदनपुर थाना अधिकारी विहीन है,कोई भी थानाध्यक्ष यहाँ टिक नही रहा है। जो आता है पैसे कमाने के चक्कर मे लग जा रहा है और निलंबित हो जा रहा है। मदनपुर में शराब बेचने वालों को थाना का संरक्षण प्राप्त है और ज़हरीली शराब का कारोबार खूब फलफूल रहा है जिसकी वजह से गरीबो की जान जा रही है। सरकार की वजह से गरीबों की मौत हो रही है। शराब पीने से मरने वालों के घरो का चिराग बुझ गया। आखिर इसका जिम्मेवार कौन है। सुशासन राज में सिर्फ भ्रस्टाचार है। प्रमोद सिंह ने मृतकों के परिजनों से मिलकर ढाढस बंधाया तथा हरसंभव मदद का आश्वाशन दिया है।

औरंगाबाद से धीरेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News