पुलिस ने 50 हज़ार के इनामी कुख्यात अपराधी राजेश सिंह को किया गिरफ्तार, कई मामलों में पुलिस को थी तलाश

पुलिस ने 50 हज़ार के इनामी कुख्यात अपराधी राजेश सिंह को किया गिरफ्तार, कई मामलों में पुलिस को थी तलाश

CHHAPRA : सारण पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। 4 साल से फरार चल रहे 50 हज़ार के इनामी एवं लगभग दो दर्जन कांडों में वांछित अंतर राज्य अपराधी गिरोह का सरगना राजेश सिंह को तीन साथियों के साथ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के संबंध में सारण एसपी संतोष कुमार ने जानकारी देते हुए बताया की गिरफ्तार कुख्यात अपराधी राजेश सिंह पर एकमा थाना के तिलकार गांव में सेना के जवान की हत्या मे सुपारी किलर एवं साजिशकर्ता के रूप में घटना को अंजाम दिए जाने का आरोप है। उड़ीसा राज्य में बैंक लूट करके आने के क्रम में रांची में चारों अपराधियों की गिरफ्तारी हुई । 

एसपी ने यह भी बताया कि कुख्यात अपराधी राजेश सिंह के द्वारा महाराष्ट्र में पेट्रोल पंप से 87 लाख रुपए की लूट की घटना को अंजाम दिया गया था। राजेश सिंह गिरोह ने ही पानापुर थाना क्षेत्र में बंधन बैंक से लूट की घटना को अंजाम दिया गया था । अपराधियों के पास से चार पिस्टल, 13 जिंदा कारतूस, दो मोटरसाइकिल ,4 मोबाइल व अन्य सामान जप्त किए गए हैं। राजेश सिंह के साथियों में कुख्यात अपराधी धर्मेंद्र तिवारी , हरजीत मिश्रा एवं नागमणि सिंह को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि इस गिरोह के द्वारा सारण एवं अन्य जगह पर सीएसपी लूट की कई घटनाओं को अंजाम दिया गया है । कई बैंक लूट की घटनाओं को अंजाम दिया गया है। मार्ग लूट,मोटरसाइकिल लूट समेत अन्य घटनाओं को अंजाम दिया गया है । 


अपराध कर्मी धर्मेंद्र तिवारी राजेश सिंह का रिश्तेदार है और घटना को अंजाम देने में मुख्य भूमिका निभाता है । जिसमें मोबाइल उपलब्ध कराना अन्य सहयोग करना शामिल है । पुलिस इनकी गिरफ्तारी के लिए तकनीकी सेल से लगातार मदद ले रही थी। एक अन्य साथी कुख्यात अपराधी नागमणि सिंह है। दर्जनों कांडों में आरोपित है। नागमणि राजेश के साथ मिलकर सारण वह सारण के बाहर भी लूट एवं हत्या जैसे घटनाओं को अंजाम देते रहा है। चौथे अपराधी हर्षित मिश्रा तिलकार गांव के मृतक सेना के जवान का पटीदार है तथा इसने ही राजेश सिंह से मिलकर सेना के जवान की हत्या करवाई थी। सारण जिला में हत्या के नियत से गोली चलाने के अन्य कांडो में भी हर्षित मिश्रा शामिल रहा है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तारी टीम में पुलिस निरीक्षक धर्मेंद्र कुमार, अरुण कुमार अकेला ,ओम प्रकाश चौहान एवं दर्जनभर अधिकारी शामिल थे। इस सफलता को प्राप्त करने में सहयोग देने वाले पुलिस कर्मियों को 15 अगस्त के दिन सम्मानित किया जाएगा।

छपरा से संजय भारद्वाज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News