सात सीटों पर चुनाव लड़ी थी हम, 3 पर जीते, मांझी का एनडीए के साथ आना फायदेमंद हुआ साबित

सात सीटों पर चुनाव लड़ी थी हम, 3 पर जीते, मांझी का एनडीए के साथ आना फायदेमंद हुआ साबित

पटना... बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में गया जिले की इमामगंज विधानसभा सीट पर मतगणना समाप्त गई है। जीतन राम मांझी करीब 15 हजार से अधिक मतों से जीत चुके हैं। इनके साथ-साथ बाराचट्टी से हम उम्मीदवार ज्योति देवी 8180 और टेकारी से हम उम्मीदवार अनिल कुमार ने भी चुनावी रण में जीत हासिल कर ली है। बता दें कि चुनाव से ऐन पहले हम के जीतन राम मांझी ने महागठबंधन का साथ छोड़कर एनडीए में शामिल हुए थे और सात सीटों पर उन्होंने अपने उम्मीदवारों को उतारा था, जिसमें 3 पर जीत हासिल हुई। राजनीतिक गलियारों में अब ये चर्चा भी शुरू हो गई है कि जीतन राम मांझी का चुनाव से पहले लिया गया फैसला बिल्कुल सही था। अब ऐसे में देखना है कि अगर एनडीए की चुनाव में जीत होती है तो मांझी को क्या जिम्मेदारी मिलेगी। 

इमामगंज में 28 अक्तूबर को पहले चरण के दौरान वोटिंग हुई थी। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी गया जिले की इमामगंज विधानसभा सीट से चुनाव लड़े और अब वो चुनाव जीत गए हैं। 

2015 में भी मांझी यहीं से जीता था चुनाव

2015 में यहां से हिन्दुस्तान आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने जदयू के उदय नारायण चैधरी को करीब 29 हजार मतों से हराया था। उससे पहले उदय नारायण चैधरी यहां से 5 बार विधायक निर्वाचित हो चुके थे। अब तक हुए 15 चुनावों में सबसे ज्यादा 4 बार कांग्रेस, 3 बार जदयू जीती है।


Find Us on Facebook

Trending News