प्रदेश में सभी वृद्ध, अशक्त और विधवा के लिए सरकार पेंशन देने के लिए कटिबद्ध, छुटे हुए लोगों की कर रहे हैं पहचान

प्रदेश में सभी वृद्ध, अशक्त और विधवा के लिए सरकार पेंशन देने के लिए कटिबद्ध, छुटे हुए लोगों की कर रहे हैं पहचान

पटना। बिहार में वंचित वृद्धों को पेंशन का लाभ दिए जाने को लेकर सदन के ध्यानाकर्षण सत्र में दरभंगा के विधायक ने सवाल उठाया।  महबूब आलम ने कहा कि राज्य में हजारों लोग वृद्धा पेंशन से वंचित हैं, जिन्हे पहले शिविर लगाकर लोगों को योजना का लाभ दिया जाता है, लेकिन जबसे उनके खाते में पेंशन की राशि मिलने लगी है, उनके खाते में पैसे नहीं जा रहे हैं, जिसके कारण उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जब इस संबंध में पूरी जानकारी मांगी गई तो पता चला कि यह तमाम प्रक्रिया राज्य मुख्यालय से हो रही है. ऐसे वंचित लोगों को तत्काल पेंशन दिलाने के लिए सरकार का ध्यानाकर्षण करना चाहते हैं। 

वहीं अपने जवाब में समाज कल्याण मंत्री ने कहा कि शिविर लगाकर पेंशन दिए जाने से होनेवाली परेशानी के कारण बैंक से पेंशन भुगतान किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य में लगभग 90 लाख अशक्त, वृद्ध एवं विधवा पेंशनधारी हैं। जिनके बैंक खाता में हर माह पैसे का भुगतान किया जा रहा है। हर प्रखंड में लगभग 15-20 हजार पेंशनधारी को प्रखंड कार्यालय में आने की परेशानी से बचाने के लिए डीबीटी सफलतापूर्वक सरकार द्वारा की जा रही है। जिससे पेंशनधारी को किसी भी तिथि में बैंक या कॉमन सेंटर से निकासी कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि इसमें किसी प्रकार की देरी नहीं होती है।

उन्होंने बताया कि इस प्रकार से न सिर्फ सरकार के पैसों की बचत होती है, बल्कि बिचौलियों और दलालों की भूमिका पूर्ण रूप से समाप्त हो गई है। जनवरी माह तक पेंशन का भुगतान किया जा चुका है, फरवरी माह के पेंशन जारी करने की तैयारी  चल रही है। साथ ही जिन लोगों को लाभ नहीं पा रही है, उनकी सूची तैयार कर भुगतान की व्यवस्था की गई है, जिनमें तीन लाख लोगों को अब तक लाभ दिया जा चुका है।


Find Us on Facebook

Trending News