आदमी हो या इलेक्ट्रॉनिक्स, यहां किराए पर मिलता है सबकुछ

आदमी हो या इलेक्ट्रॉनिक्स, यहां किराए पर मिलता है सबकुछ

News4nation desk- आपने तरह-तरह के वेबसाइट देखे होंगे जहां आप चीजें रेंट पर ले सकते हैं. वेबसाइट से खास तौर पर लोग इलेक्ट्रॉनिक्स या फर्नीचर जैसी चीजें रेंट पर लेते हैं. पर एक ऐसी वेबसाइट है जो इलेक्ट्रॉनिक्स के अलावा ड्राइवर, मेहंदी आर्टिस्ट, कुक, सिंगर, डांसर भी रेंट पर देते हैं. जी हां! ये वाकई चौकाने वाली बात है. यह वेबसाइट छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से शुरू हुई और इस वेबसाइट के जरिए आप कभी भी, कुछ भी किराए पर ले सकते हैं. इस खास वेबसाइट को बांके बिहारी और अनुज झा ने शुरू किया और वेबसाइट का नाम रेंट2कैश है. 

पूछे जाने पर बांके ने बताया, 'मैं उड़ीसा का रहने वाला हूं लेकिन कुछ साल पहले कारोबार के सिलसिले में परिवार के साथ रायपुर आना पड़ा। इस दौरान मैंने जब रहने के लिए घर की तलाश की तो काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। तब मैंने देखा कि मकान दिलाने वाले बिचौलिये मुझसे एक महीने के किराये के बराबर कमीशन मांग रहे थे। इतना ही नहीं दूसरी ओर मकान देने वाले से भी 15 दिन का कमीशन ले रहे थे।' उन्होंने यह भी बताया, 'कई बार जो लोग अपना घर किराए पर देना चाहते थे वो काफी वक्त तक खाली रहता था क्योंकि ब्रोकर के साथ अनबन होने के कारण वो किसी को भी घर नहीं दिखाता। इस दौरान उन्होंने महसूस किया कि पूरा बाजार ब्रोकर के हाथों में है। इसके अलावा उन्होंने देखा कि किराए पर मकान का मिलना एक बड़ी समस्या तो है ही साथ ही जरूरत पड़ने पर कभी इलेक्ट्रिशियन, तो कभी प्लंबर को ढूंढने में भी लोगों को दिक्कत होती है। तब उन्होंने सोचा कि उनके जैसे और लोग भी होंगे जिनको इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता होगा। इसके बाद ही उन्होने रेंटल वेबसाइट शुरू करने का फैसला कर लिया।' संस्थापक अनुज का कहना है कि ये देश की पहली रेंटल वेबसाइट है जहां पर सेवाएं देने वाले से और लेने वाले से कोई पैसा नहीं लिया जाता है। 

आपको बता दें कि आज इस वेबसाइट में मकान से लेकर मोटरसाइकल, साइकिल, टीवी, फ्रीज, एसी, फर्नीचर, वॉशिंग मशीन के अलावा ड्राइवर मेहंदी आर्टिस्ट, कुक, सिंगर, डांसर सब कुछ रेंट2कैश वेबसाइट में किराए पर मिलता है। रेंट2कैश के संस्थापक अनुज झा के मुताबिक इस वेबसाइट में 80 तरह की चीजें कोई भी व्यक्ति किराए पर दे सकता है या फिर ले सकता है। इसके अलावा ये वेबसाइट मुफ्त में क्लासीफाइड विज्ञापन लेती है। इस प्रक्रिया में किसी एजेंट की कोई भूमिका नहीं होती। रेंट2कैश वेबसाइट की शुरुआत साल 2015 में 6 लोगों की एक टीम ने की थी लेकिन आज ये संख्या 24 तक पहुंच गई है। रेंट2कैश के संस्थापक अनुज झा का कहना है कि हर रोज इस बेवसाइट पर 500 लोग आ रहे हैं और उनकी कोशिश इस संख्या को और ज्यादा बढ़ाने की है इसके लिए हम लोग सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक और ट्विटर की मदद ले रहे हैं। इसके अलावा ये लोग इस वेबसाइट को दिल्ली एनसीआर, लखनऊ, पटना, भोपाल, बंगलुरु जैसे शहरों में भी शुरू करना चाहते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News