बस वाले हैं या गुंडे! यात्रियों को रास्ते में छोड़ा, जब लोगों ने विरोध किया तो कहा - ज्यादा बोलोगे तो ठोंक देंगे

बस वाले हैं या गुंडे! यात्रियों को रास्ते में छोड़ा, जब लोगों ने विरोध किया तो कहा - ज्यादा बोलोगे तो ठोंक देंगे

कैमूर। बस में सफर के दौरान अक्सर कंडक्टर और खलासी यात्रियों से बद्सलूकी करते हैं, लेकिन यहां कंडक्टर साहब सीधे यात्रियों को गोली मारने की बात करते नजर आ रहे हैं। मामले में विवाद बढ़ने के बाद डीसीएलआर ने बस को जब्त कर लिया है। 

मामले में मिली जानकारी के अनुसार नेपाल के पर्यटकों को पटना से वाराणसी पहुंचाने की बात कह कर बस लेकर चला और बीच रास्ता मोहनिया में ही उन्हें उतार कर भागने लगा। जब यात्रियों ने किया विरोध तो उन्हें बस चालक और कंडक्टर ने गोली मारने की धमकी दी। इसी दौरान जब वहां से गुजर रहे मोहनिया डीसीएलआर ने विवाद को देखकर अपनी गाड़ी को रोक दी। डीसीएलआर ने पूरी घटना की जानकारी ली और बस को जब्त करते हुए बस संचालकों को सभी यात्रियों को वाराणसी छोड़ने का निर्देश दिया। 

बस भाड़े को लेकर था विवाद

पूरा विवाद बस के किराए को लेकर था। बस चालक द्वारा किसी यात्री से ₹420 तो किसी से ₹520 पटना से वाराणसी का प्रति यात्री किराया लिया गया था। उसके बावजूद यात्रियों को धमकी देते हुए बीच रास्ते में छोड़ दिया। नेपाल के यात्री बताते हैं हम लोग नेपाल से वाराणसी गंगा दर्शन के लिए जा रहे थे, जब पटना पहुंचे तो वहां बस वाले ने एसी चार्ज जोड़ते हुए प्रति यात्री ₹520 मांगे। लेकिन बस वाला बीच रास्ते में ही हम लोगों को उतार कर भागने लगा। बोला कि हमारा परमीशन यूपी के लिए नहीं है ,जाएंगे तो गाड़ी पकड़ी जाएगी। 

डीसीएलआर ने की मदद

मोहनिया डीसीएलआर राजेश सिंह ने बताया मैं भभुआ मीटिंग के दौरान जा रहा था तो देखा कि एक बस कुछ यात्रियों के बीच रास्ते में उतार कर भाग रहा है। जहां बस को मैंने रुकवाया और उसके मालिक का नंबर लेते हुए तुरंत आदेश दिया गया कि सभी यात्रियों को सुरक्षित उनके गंतव्य वाराणसी तक पहुंचाया जाए। अगर वह ऐसा नहीं करते उनके ऊपर कार्रवाई होगी ।


Find Us on Facebook

Trending News