बोधगया बालिका गृहकांड को लेकर प्रशासन गंभीर, जांच के लिए बनी पांच अधिकारियों की टीम

बोधगया बालिका गृहकांड को लेकर प्रशासन गंभीर, जांच के लिए बनी पांच अधिकारियों की टीम

GAYA : बालिका गृह, बोधगया में आवासित नवादा जिले की एक किशोरी द्वारा लगाए गए यौन शोषण संबंधी आरोप के संबंध में प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक एवं सोशल मीडिया में दिनांक 12 अगस्त 2021 को प्रकाशित समाचार पर तत्काल संज्ञान लेते हुए जिला पदाधिकारी, गया,  अभिषेक सिंह द्वारा एक जांच समिति का गठन किया गया। इस समिति में अनुमंडल पदाधिकारी सदर, पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय, पुलिस उपाधीक्षक बोधगया, वरीय उप समाहर्ता सुश्री आरुप, सहायक निदेशक बाल संरक्षण पदाधिकारी, गया महिला थाना की थानाध्यक्ष को शामिल किया गया है।

     सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा द्वारा बताया गया कि  बालिका गृह, बोधगया में आवासित बालिकाओं से पूछताछ की गई है।  आरोपित बालिकाओं के साथ रहने वाली अन्य बालिकाओं द्वारा लिखित स्टेटमेंट दिया गया है कि इस प्रकार की कोई घटना इस बालिका गृह में नहीं हुई है। उन्होंने बताया गया कि सीसीटीवी की जांच में 2 से 3 दिन समय लग सकता है। बालिका गृह के कर्मियों यथा कुक, महिला पुलिसकर्मी, सफाई कर्मी से पूछताछ की गई। कर्मियों द्वारा बताया गया कि  यौन शोषण का आरोप गलत है। उन्होंने बताया कि 13 जुलाई 2021 से 10 अगस्त 2021 तक सीसीटीवी को देखना आवश्यक होगा, जिसमें कुछ समय लग सकते हैं। उन्होंने बताया कि जाँच टीम नवादा जिले जाकर वस्तु स्थिति की और अधिक जानकारी प्राप्त करेगी, जहाँ  किशोरी अपने माता पिता के साथ आवासित है। 


   सहायक निदेशक बाल संरक्षण पदाधिकारी ने बताया कि प्रथम  द्रष्टया कथित पीड़िता के साथ कुछ नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि कथित पीड़िता 13 जुलाई 2021 को इस बालिका गृह में आई थी तथा 10 अगस्त 2021 को चली गई। अभी तक की जांच में यह स्पष्ट हुआ है कि प्रकाशित समाचार में लगाया गया आरोप पूरी तरह असत्य है। बालिका गृह में 20 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगे हैं तथा 5 से अधिक महिला पुलिसकर्मी तैनात है।

    सहायक निदेशक, बाल संरक्षण पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि राज्य स्तर से भी समाज कल्याण विभाग की टीम द्वारा इस घटना की जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि बालिका गृह में लगे सीसीटीवी कैमरे की निगरानी समाज कल्याण विभाग पटना मुख्यालय द्वारा भी की जाती है। समाज कल्याण विभाग के राज्य स्तरीय टीम तथा जिला स्तरीय गठित टीम द्वारा गहराई से जांच की जा रही है, जिससे वस्तु स्थिति और स्पष्ट हो जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News