महागठबंधन की सरकार बनाने के बाद सीएम नीतीश की पहली परीक्षा आज, विधान मंडल में हासिल करेंगे विश्वास मत

महागठबंधन की सरकार बनाने के बाद सीएम नीतीश की पहली परीक्षा आज, विधान मंडल में हासिल करेंगे विश्वास मत

PATNA : बिहार विधानमंडल का दो दिवसीय विशेष सत्र 24 अगस्त बुधवार से आरंभ हो रहा है. 24 अगस्त को विधानसभा की कार्यवाही आरंभ होगी. 24 और 25 अगस्त को होने वाली सदन की बैठक में महागठबंधन की नयी सरकार विधानसभा में विश्वास का मत हासिल करेगी।  साथ ही मौजूदा विधानसभा अध्यक्ष के इस्तीफा नहीं दिये जाने की स्थिति में पचास से अधिक विधायकों द्वारा दिये गये अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होगी 

दूसरे दिन नये अध्यक्ष का चुनाव हाेगा. इधर, विधान परिषद में 24 अगस्त काे नये सभापति पद के लिए दोपहर 12 बजे तक नामांकन लिये जायेंगे. अगले दिन सत्र के दौरान सभापति पद के लिए चुनाव कराये जायेंगे. एक ही नामांकन की स्थिति में निर्विरोध चयन होगा. सूत्रों के मुताबिक विधान परिषद के नये सभापति पद के लिए जदयू के देवेश चंद्र ठाकुर का नामांकन 24 अगस्त को होगा.

पिछली दफा कार्यकारी सभापति के चुनाव के दौरान सदन के नेता के रूप में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रस्ताव दिया था और उपनेता सुशील कुमार मोदी ने समर्थन किया था. उम्मीद की जा रही है कि इस बार जदयू की ओर से नये सभापति के नामांकन का प्रस्ताव आयेगा और राजद व कांग्रेस की ओर से समर्थन होगा.

इसके साथ ही महज डेढ़ माह की अवधि में सदन का पूरा परिदृश्य बदला हुआ दिखेगा। मानसून सत्र के दौरान जो चेहरे सत्ता पक्ष की तरफ दिख रहे थे। उनमें अधिकांश विपक्ष की तरफ नजर आएगा। वहीं पूरा विपक्ष अब सत्ता पक्ष की तरफ बैठा हुआ दिखेगा।

भाजपा ने सरकार को घेरने की है पूरी तैयारी

जिस तरह से नीतीश कुमार ने कुछ घंटे में बिहार में पाला बदलकर एनडीए से महागठबंधन में जाने का फैसला किया, उसके बाद लगातार हो रहे आपराधिक घटनाओं के कारण भाजपा आज सदन में सरकार को पूरी तरह से घेरने की तैयारी में हैं। नीतीश कुमार की चुनौती इसलिए भी आसान नहीं होगा, यहां सामने वह भाजपा है. जो अब तक उनके साथ सरकार में शामिल थी और नीतीश सरकार के तमान कार्य की उन्हें बखूबी जानकारी है।


Find Us on Facebook

Trending News