सारण में लगातार हो रही मौत के बाद टूटी प्रशासन की नींद, दनादन हो रही कार्रवाई और छापेमारी

सारण में लगातार हो रही मौत के बाद टूटी प्रशासन की नींद, दनादन हो रही कार्रवाई और छापेमारी

SARAN : जिले में हो रही लगातार संदिग्ध मौत ने जिला प्रशासन की बेचैनी बढ़ा दी है। जिला प्रशासन ने अब ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू करते हुए शराब माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। साथ ही सैकड़ों की संख्या में गिरफ्तारी और जेल भेजने की भी करवाई शुरू कर दी है। हर थाने के लिए छापेमारी टीम का गठन किया गया है। इसके अलावा कई अन्य अचूक व्यवस्था और एसआईटी का गठन किया गया है। सारण एसपी संतोष कुमार से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने विशेष अभियान चलाकर एक सप्ताह के अंदर 651 संवेदनशील स्थानों पर छापेमारी करते हुए 138 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही शराब के कुल 64 कांड दर्ज किए गए हैं। विदेशी शराब 65. 4 लीटर, देसी शराब 2137 लीटर इस तरह कुल 2202 लीटर शराब बरामद किया गया है। 

शराब पीने से मृत्यु होने की सूचना पर मकेर थाना के कुल 12 नामजद अभियुक्त व अन्य अज्ञात के विरुद्ध जहरीली शराब निर्माण ,बिक्री और पिलाने के कारण कई लोगों के मृत्यु होने एवं देसी -विदेशी शराब, स्प्रिट ,रासायनिक पदार्थ और उपकरण बरामद होने के आरोप में कांड दर्ज कर मुख्य अभियुक्त और शराब कारोबारी मैना महतो उर्फ वीरेंद्र महतो, आपूर्तिकर्ता रोहित राय तथा मकेर थाना के चौकीदार गणेश माझी समेत कुल चार अभियुक्तों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इसी मामले में 380 लीटर स्पिरिट, 41. 6 लीटर देसी शराब ,.9.240 लीटर विदेशी शराब, शराब बनाने के उपकरण, रसायन बरामद किया गया है। दर्ज किए गए कांड के नामजद अभियुक्तों तथा अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी और कानूनी कार्रवाई के लिए अपर पुलिस अधीक्षक अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सोनपुर के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है। एसआईटी में 4 पुलिस उपाधीक्षक,4 पुलिस निरीक्षक और  12 पुलिस अवर निरीक्षक समेत कुल 20 पुलिस पदाधिकारी शामिल किए गए हैं। विशेष छापेमारी अभियान के लिए अपर पुलिस अधीक्षक सह अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अंजनी कुमार के नेतृत्व में विशेष छापामारी टीम का भी गठन किया गया है। जिसमें पुलिस उपाधीक्षक जिला मुख्यालय सारण समेत कुल 18 पुलिस पदाधिकारी को शामिल किया गया है। पुलिस अवर निरीक्षक राजेश प्रसाद यानी तत्कालीन थानाध्यक्ष मकेर और चौकीदार गणेश माझी को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। 

चौकीदार गणेश माझी को गिरफ्तार करते हुए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। अमनौर, मडावरा तथा मुख्य प्रखंडों के सीमावर्ती क्षेत्रों में हर घर में सर्वेक्षण का कार्य कराया जा रहा है। ताकि यदि कोई बीमार मिलता है तो उसका समुचित इलाज कराया जा सके। इसके लिए मेडिकल टीम का गठन किया गया है और उनकी प्रतिनियुक्ति की गई है। पूरे जिले में थाना वार इसी तरह की टीम का गठन किया गया है। 19 जनवरी से 24 जनवरी तक विशेष मद्य निषेध अधिनियम का कड़ाई से पालन कराने के लिए महा समकालीन अभियान चलाया जा रहा है। सभी थानाध्यक्षों और ओपी प्रभारियों को भी व्यापक अभियान चलाने का आदेश दिया गया है। 

जिला स्तरीय एवं अंचल स्तरीय गठित एंटी लिकर टास्क फोर्स एलटीएफ की टीम गठित की गई है। जिसमें 100 से अधिक पुलिस पदाधिकारी एवं कर्मी नियुक्त किए गए हैं। उन सभी को संवेदनशील क्षेत्रों में सघन छापेमारी के लिए आदेशित किया गया है। एसपी सारण ने जिले के सभी नागरिकों से अपील करते हुए कहा है कि नशीले पदार्थ शराब आदि का सेवन कतई ना करें। शराब अथवा किसी भी तरह के नशीले पदार्थ स्वार्थ के लिए हानिकारक और जानलेवा भी हो सकते हैं। यदि किसी भी व्यक्ति के पास शराब अथवा किसी भी तरह का नशीला पदार्थ हो तो उसे अविलंब नष्ट कर दें। अगर कोई व्यक्ति किसी नशीले पदार्थ या शराब के सेवन करने से बीमार हो तो इसकी जानकारी अवश्य दें। साथ ही जिला आपातकालीन संचालन केंद्र के फोन नंबर 06152 245023 एवं पुलिस नियंत्रण कक्ष गोपनीय शाखा 06152 232 307 पर सूचना देंगे ताकि बीमार व्यक्तियों का इलाज कराया जा सके।

छपरा से संजय भारद्वाज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News