सिरदला में चार लोगों की मौत के बाद मेसकौर में भी डायरिया का कहर, 10 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि

सिरदला में चार लोगों की मौत के बाद मेसकौर में भी डायरिया का कहर, 10 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि

NAWADA : जिले में डायरिया से असर बढ़ता ही जा रहा है। जहां सिरदला थाना क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह में चार लोगों की डायरिया से मौत हो चुकी है. वहीं अब मेसकौर प्रखंड में भी इस बीमारी ने अपने पांव पसार दिया है। प्रखंड क्षेत्र के सवाजपुर सराय पंचायत अंतर्गत लक्ष्मी बीघा गांव में बृहस्पतिवार को तीन घरों से करीब 10 लोग डायरिया की चपेट में आ गया है। फिलहाल सभी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

मामले में लक्ष्मी बिगहा निवासी कॉलेज चौहान ने बताया कि बुधवार को शाम गाय के बच्चा मर गया जिसे बृहस्पतिवार सुबह दफनाकर जैसे ही घर आए एक एक घर के सभी सदस्यों में डायरिया के लक्षण पाया गया। देखते ही देखते  3 घरों से 10 लोग बीमार पड़ गए। जिनमें कॉलेज चौहान के दो बेटी  दो वर्षीय पुत्री अंशु कुमारी और 3 वर्षीय प्रियांशु कुमारी एवं कॉलेज चौहान की  22 वर्षीय पत्नी रूबी देवी, राजु चौहान के 3 वर्षीय पुत्र गोलू कुमार, 12 वर्षीय पुत्र प्रिंस कुमार, 9 वर्षीय पुत्री प्रीती कुमारी एवं राजू चौहान की 30 वर्षीय पत्नी पार्वती देवी , शिबू चौहान के 28 वर्षीय पत्नी गुलाबी देवी, रामप्रवेश चौहान के 2 वर्षीय पुत्र सनी कुमार, राधे चौहान के 22 वर्षीय पुत्र श्री चंद्र चौहान एवं राधे चौहान की 40 वर्षीय पत्नी सुमित्रा देवी शामिल हैं। जिनमें कुछ का इलाज मंझवे  के निजी क्लीनिक में चल रहा है। तो कुछ का इलाज मेसकौर  पीएचसी के स्वास्थ्य टीम के द्वारा करवाया जा रहा है।

सिरदला के चैली गांव पहुंची मेडिकल टीम

पिछले एक सप्ताह में सिरदला के चैली गांव में चार लोगों की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए पहुंची। इस दौरान जिला वेक्टर बांड नियंत्रण पदाधिकारी बीरेंद्र कुमार ने चैली गांव पहुच कर डायरिया पीड़ितों से मिलकर हाल चाल पूछा।साथ ही ग्रामीणों को डायरिया से राहत बचाव को लेकर उचित निर्देश दिया।उन्होंने लोगो से अपील किया कि बासी भोजन का सेवन करने से बचे सिर्फ ताजा भोजन और गर्म पानी का ही सेवन करें। साथ ही मौके पर मौजूद सिरदला पीएचसी के मेडिकल टीम को गांव का रोजाना मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि चार लोगों की डायरिया से मौत होने की सूचना मिलते ही वरीय पदाधिकारियों के निर्देशानुसार चैली गांव का दौरा किया गया है।फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।जो भी मरीज थे उनको शुक्रवार की सुबह रजौली और सिरदला अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है

Find Us on Facebook

Trending News