पटना में छात्र संगठन आइसा ने किया प्रदर्शन, नयी शिक्षा नीति वापस लेने की मांग

पटना में छात्र संगठन आइसा ने किया प्रदर्शन, नयी शिक्षा नीति वापस लेने की मांग

PATNA : आज पटना में छात्र संगठन आइसा के द्वारा राष्ट्रीय प्रतिरोध दिवस के तहत प्रदर्शन किया गया. इस मौके पर नई शिक्षा नीति वापस लो, शिक्षा का बाजारीकरण करना बंद करो, गरीबो-मध्यमवर्गीय को शिक्षा से वंचित करने का प्रयास नही चलेगा के नारे लगाए गए. सभा को संबोधित करते हुए आइसा के राज्य सह सचिव आकाश कश्यप ने कहा कि मोदी सरकार के द्वारा रात के अंधेरे में और बिना सदन में चर्चा किये हुए नई शिक्षा नीति लाया गया है. 

इसके खिलाफ पूरे देश मे आज प्रदर्शन हो रहे है. इस शिक्षा नीति का जब हम अध्य्यन करते है तो यह शिक्षा नीति गरीबों-मध्यमवर्गीय परिवार से शिक्षा वंचित करने वाली नीति है. कुल मिलाकर जिसके पास पैसे रहेंगे. वह शिक्षा ले पाएंगे. वहीँ दूसरी ओर यह उच्च शिक्षा पे हमला है. शोध को कमजोर करने वाली नीति है. 


जब देश मे शोध ही नही होगा तो भारत कैसे विश्वगुरु बनेगा. यह भारत का नौजवान पूछता है. उन्होंने कहा की आइसा का साफ साफ मानना है यह शिक्षा नीति छात्र विरोधी नीति है. आज से हमलोगों ने आंदोलन की शुरुआत किया है. आने वाले दिनों में तमाम संगठन को एकजुट करके इसके खिलाफ जबरदस्त आवाज बुलंद करेंगे. आकाश कश्यप ने कहा की बिहार में बाढ़ और कोरोना के कारण छात्र आईआईटी जेईई-नीट परीक्षा का डेट बढ़ाने की मांग कर रहे हैं. आइसा इस पेंडेमिक समय में छात्रों के मांग के साथ खड़ा है. दूसरी तरफ बिहार में इंटर में एडमिशन चल रहा है. आइसा ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को लेटर भेज कर मांग किया है कि एडमिशन का डेट बढ़ाया जाए और सहूलियत के साथ तमाम छात्रों का एडमिशन हो. 

आज के प्रदर्शन में आलोक यादव, मॉडल दीपू राज, सुमित जयसवाल, दीपक यादव, बसंत, जिनिश यादव,साहिल जैसवाल,आकाश नयन,रोहित गौतम,राहुल कुमार,रौशन सहित दर्जनों छात्र थे.

पटना से रोहित राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News