शराब पीने और बांध ध्वस्त करने के साथ पूरी एक्स-रे मशीन भी खा जाते हैं बिहार के चूहे, यह रहा सबूत

शराब पीने और बांध ध्वस्त करने के साथ पूरी एक्स-रे मशीन भी खा जाते हैं बिहार के चूहे, यह रहा सबूत

JAHANABAD : बिहार में मद्य निषेध और निर्माण विभाग को करोड़ों का नुकसान पहुंचाने के बाद सूबे के चूहों के निशाने पर स्वास्थ्य विभाग आ गया है। अब तक यहां के चूहे बड़े-बड़े बांध को ध्वस्त किया था व शराब गटक गए थे।  लेकिन अब चूहों ने फिर एक नया कारनामा कर दिया है, जो किसी आश्चर्य से कम नहीं है। यहां चूहों और चुंटे ने सरकारी अस्पताल में लगाई गई पूरी एक्स-रे मशीन ही खा ली है। जिसके कारण इस स्वास्थ्य सुविधा का लाभ गरीब मरीजों को नहीं मिल पा रहा है। जिसके कारण एक्स-रे के लिए गरीबों को इधर उधर निजी प्रतिष्ठानों में जाने को मजबूर होना पड़ता है।

दरअसल स्थानीय विधायक सतीश कुमार ने जहानाबाद जिले के रेफरल अस्पताल मखदुमपुर का औचक निरीक्षण को पहुंचे थे। निरीक्षण के दौरान उन्होंने देखा डिजिटल एक्सरे मशीन बेकार पड़ी है। विधायक ने मशीन सप्लाई करने वाले कांट्रेक्टर से फोन पर बात की तो कांट्रेक्टर ने भी विधायक को बताया हुजूर मशीन खराब हुई है तो इसमें उसकी कोई गलती नहीं है। हमने तो मशीन ठीक दी थी। गलती वहां के चुंटों व चूहों की है, जो पूरा एक्सरे मशीन को खा लिया है।


22 लाख की थी मशीन

विधायक ने आपत्ति जताई तो डॉक्टरों ने अपना पल्ला झाड़ते हुए बताया कि दिक्कत मशीन में ही है। रेफरल अस्पताल में स्थापित डिजीटल एक्स-रे की कीमत लगभग 22 लाख है। गत 15 अगस्त को इस मशीन को चालू होना था। लेकिन बुधवार को जब विधायक ने उस मशीन को चालू कराने को कहा तो एक भी एक्स-रे सही नहीं निकला।

भड़क गए विधायक, सिस्टम का दोष चूहों पर मढ़ रहे
 विधायक ने कहा कि गलती करने वाले सिस्टम के लोग हैं और दोष चूहों पर मढ़ रहे हैं। आखिर महंगे उपकरणों के रख-रखाव का जिम्मा किसका है। उन्होने आरोप लगाते हुए कहा कि यह सब सिस्टम का खेला है, जो आम आदमी के हितों के मूल्य पर खेला जा रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री और सीएम से होगी शिकायत, दोषी चूहों की होगी गिरफ्तारी

विधायक ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा कि वे जल्द ही स्वास्थ्य मंत्री और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर बिहार से चुंटो और चूहे की गिरफ्तारी की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि यहां तो अजब हाल है कि कहीं थाना में चूहा दारू पी जाता है तो कहीं पक्का बांध को चूहा ध्वस्त कर दे रहा है और तो और अब हॉस्पिटल में एक्सरे मशीन को चूहा खा जा रहा है। जिस राज्य के मुखिया चुंटे और चूहे पर नियंत्रण नहीं कर सकते हैं, वैसे लोगों को सरकार में रहने का कोई अधिकार नहीं है. उन्होंने कहा कि यदि चुंटे और चूहे पर कार्रवाई नहीं हुई, तो मैं आंदोलन करूंगा. बिहार से चुंटे और चूहे की गिरफ्तारी हो और नहीं तो नीतीश कुमार इस्तीफा दें, क्योंकि उनके राज में लॉकडाउन करके इंसानों को घर में कैद किया जाता है और चुंटे और चूहे को खुलेआम छोड़ दिया जाता है. 


Find Us on Facebook

Trending News