दिल्ली के रेस्टोरेंट संचालकों की मनमानी : पहले गमछा और अब साड़ी पहनकर आने पर लगा दी एंट्री पर रोक

दिल्ली के रेस्टोरेंट संचालकों की मनमानी : पहले गमछा और अब साड़ी पहनकर आने पर लगा दी एंट्री पर रोक

NEW DELHI : भारत में साड़ी महिलाओं द्वारा पहना जानेवाला परिधान है। लेकिन, इस देश के इस परिधान को लेकर देश की राजधानी नई दिल्ली के बड़े रेस्टोरेंट में किस प्रकार की सोच रखी जाती है, इसका ताजा उदाहरण अंसल प्लाजा स्थित AQUILA रेस्टोरेंट प्रबंधन की हरकतों से समझा जा सकता है। जहां साड़ी पहनकर आई एक महिला को अंदर जाने से रोक दिया गया। इस घटना को लेकर पीड़ित अनीता चौधरी ने जब स्टाफ से पूछा कि क्या साड़ी पहनकर आने की परमिशन नहीं है? इस पर कर्मचारी ने जवाब दिया कि साड़ी को स्मार्ट कैजुअल में नहीं गिना जाता है और यहां सिर्फ स्मार्ट कैजुअल की ही इजाजत है। 

ट्विटर पर वीडियो कर की शिकायत, महिला आयोग ने लिया संज्ञान

इस पूरी घटना को लेकर महिला अनीता ने होटल की कर्मचारी से बहस का वीडियो शेयर भी किया है, जिसके बाद इस मुद्दे ने तूल पकड़ लिया है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने इस पर खुद ही नोटिस लेकर दिल्ली पुलिस को चिट्ठी लिखी है। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि अगर महिला के आरोप सही हैं तो रेस्टोरेंट के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए। साथ ही रेस्टोरेंट के मार्केटिंग एंड पीआर डायरेक्टर को 28 सितंबर को आयोग के सामने पेश होने के लिए भी कहा गया है।

16 सेकेंड के इस वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे रेस्टोरेंट की एक महिला स्टाफ यह कह रही है कि साड़ी स्मार्ट कैजुअल नहीं है और यह यहां अलाऊ नहीं है, जिसके बाद वह आगे बढ़ जाती है। 



सोशल मीडिया में लोगों ने कहा पश्चिमी और मुस्लिम देशों में साड़ी बैन नहीं

रेस्टोरेंट में महिला से हुए भेदभाव का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद लोगों का गुस्सा फूट रहा है। लोगों ने महिला का वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि इस महिला को साड़ी पहनने की वजह से रेस्टोरेंट में घुसने नहीं दिया गया, क्योंकि गुलाम परिचारिका (होस्टेस) के मुताबिक साड़ी स्मार्ट कैजुअल नहीं है। यह सबसे विचित्र बात मैंने सुनी है ! 

एक दूसरे सोशल मीडिया यूजर ने लिखा है कि स्मार्ट परिधान क्या हैं? ईसाई-मुस्लिम देशों में भी साड़ी पर ऐसा बैन नहीं, फिर भारत में ऐसी मानसिकता क्यों? रेस्टोरेंट की रेटिंग को लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।

रेस्टोरेंट का आरोप- महिला ने मैनेजर को थप्पड़ मारा
 महिला से बदसलूकी के आरोपों पर रेस्टोरेंट ने सोशल मीडिया के जरिए सफाई दी है। रेस्टोरेंट की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि हम चर्चा कर रहे थे कि महिला को कहां बैठाया जाए, इसी बीच वे अंदर आईं और हमारे स्टाफ को गाली देते हुए झगड़ने लगीं। उन्होंने हमारे मैनेजर को थप्पड़ मार दिया। हम CCTV फुटेज भी अटैच कर रहे हैं।

2019 में भी हुई थी ऐसी ही घटना

नई दिल्ली के रेस्टोरेंट में भारतीय परिधानों को लेकर कैसी सोच है, इसका एक उदाहरण नवंबर 2019 में भी सामने आया था। जब कनॉट प्लेस के एक होटल Q,BA रेस्टोरेंट में प्रसिद्ध लेखक नीलोत्पल मृणाल दिल्ली सरकार द्वारा आयोजित पूर्वाचंली कार्यक्रम में हिस्सा लेकर एक नामी रेस्टोरेंट के दरवाजे पर पहुंचे थे। ठेठ पूर्वांचली अंदाज में सिर पर गमछा बांधे नीलोत्पल होटल में घुसने ही वाले थे कि मैनेजर भागा-भागा उनके पास आया और कहा- कि आप अंदर नहीं जा सकते हैं। जब उन्होंने कारण पूछा तो जवाब सुनकर नीलोत्पल के न सिर्फ होश उड़ गए बल्कि पैरों तले की जमीन ही खिसक गई। होटल के मैनेजर ने कहा कि- चूंकि आप गमछा लपेटे हुए हैं लिहाजा इसको हटाकर ही हमारे होटल के अंदर दाखिल हो सकते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News