पिता का घर बचाने की कोशिश : मां के खिलाफ थाने पहुंची बेटी, जबरन घर बेचने का लगाया आरोप

पिता का घर बचाने की कोशिश : मां के खिलाफ थाने पहुंची बेटी, जबरन घर बेचने का लगाया आरोप

PATNA : एक पिता की मेहनत से बनाए गए घर को बचाने के लिए बेटी थाने पहुंच गई है। जहां उसने पिता के घर को बेचने से रोकने की गुहार अधिकारियों से लगाई है। लेकिन, यहां कहानी यह है कि बेटी जिस पर घर बेचने का आरोप लगा रही है। वह उसकी सगी मां है। जहां बेटी नहीं चाहती है कि उनके पिता का घर बिके, वहीं उसकी मां घर बेचकर पटना से जाने की जिद पर अड़ी हुई है।

आम तौर पर पिता की संपत्ति को उनके संतान बेच देते हैं, लेकिन यहां मामला थोड़ा उल्टा है। यहां एक बेटी अपने पिता के घर को बिकने से बचाने की कोशिश कर रही है। यह पूरा मामला राजधानी के कदमकुआं मोहल्ले से जुड़ा है। जहां कनिका मेहर अपार्टमेंट में फ्लैट नं. 102 में रहनेवाली वीमेस कॉलेज में स्नातक की छात्रा आयुर्वषी अंजली ने बताया कि यह फ्लैट उनके स्वर्गवासी पिता और मां डॉ. गीताजंली कुमारी के नाम पर है। 2013 में पिता का निधन हो गया।

एक अधिकारी के बहकावे में आकर बेचना चाहती है घर

अंजली का आरोप है कि उसकी मां और नाना इस फ्लैट को बेचकर हमेशा के लिए पटना से जाना चाहते हैं। जबकि हमारी मांग है कि यह घर नहीं बेचा जाए। अंजली का कहना है वह अपने पिता के फ्लैट में ही रहना चाहती है। अंजली का कहना है कि उसकी मां की पहचान बिहार के एक वरिष्ठ अधिकारी से है। उनके कहने पर ही वह फ्लैट बेचना चाहती है। 

थाने में की शिकायत 

अंजली ने बताया कि कल मां ने जबरन सारा सामान पैक करवा दिया। जब मैंने इसका विरोध किया तो कमरे के अंदर बंद कर बाहर से ताला लगाकर सारा सामान लेकर चले गए। जिसके बाद वह लोग कहां गए मुझे नहीं पता। अंजली का कहना है कि कंकड़बाग में  रहनेवाली बहन की मदद से बाहर निकली। जिसके बाद कदमकुआं थाने पहुंची और पूरे मामले की जानकारी दी। अंजली का कहना है कि उन्होंने इसकी पहले भी ऑनलाइन शिकायत की थी


Find Us on Facebook

Trending News