अवैध संबंधों की भेंट चढ़ी संजो सुनीता देवी, फोन करके बुलाया फिर प्रेमी सिंटू ने आकाश के साथ मिलकर की थी हत्या

अवैध संबंधों की भेंट चढ़ी संजो सुनीता देवी, फोन करके बुलाया फिर प्रेमी सिंटू ने आकाश के साथ मिलकर की थी हत्या

भागलपुर... नवगछिया के बिषाय टोला निवासी संजो उर्फ सुनीता देवी हत्याकांड में नवगछिया पुलिस ने महिला के प्रेमी विषाय टोला निवासी सिंटू पासवान को गिरफ्तार कर लिया है। सिंटू के पास से उनका मोबाइल भी पुलिस ने बरामद किया है। जिससे उन्होंने आकाश एवं सिंटू से बात चीत कर हत्याकांड की घटना को अंजाम दिया। सिंटू पासवान को पुलिस ने खगड़िया जिले के भारतखंड से छापेमारी कर गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद सिंटू ने हत्याकांड की बात पुलिस पूछताछ में स्वीकार किया है एवं हत्याकांड की पूरी कहानी पुलिस को बताया है। पुलिस पूछताछ में उन्होंने यह भी स्वीकार किया है कि संजू देवी के हत्या के पूर्व उनके अवैध संबंध थे। 

एसडीपीओ दिलीप कुमार ने कहा कि 30 नवंबर को मिले अज्ञात शव की शिनाख्त संजो उर्फ सुनीता देवी के रूप में हो जाने के बाद उन लोगों ने वैज्ञानिक अनुसंधान शुरू किया तो हत्याकांड का रहस्य परत दर परत खुलता चला गया और पुलिस आरोपी तक पहुंच गई। संजू देवी हत्याकांड में पहले हत्याकांड में शामिल भगालपुर जिले के बरारी थाना क्षेत्र के साधु गोपलेन निवासी घोटन पासवान के 18 वर्षीय पुत्र आकाश कुमार को गिरफ्तार किया गया। आकाश के पास से पुलिस ने मृतक महिला का मोबाइल फोन भी बरामद किया। आकाश की गिरफ्तारी के बाद हत्याकांड की पूरी कहानी पुलिस के सामने आ गई। आकाश ने संजू देवी की हत्या की बात को स्वीकार करते हुए इस घटना में सिंटू पासवान के भी शामिल होने की बात कही। 


एसडीपीओ ने बताया कि सिंटू एवं आकाश दोनो के अवैध संबंध महिला के साथ थे। सिंटू एवं आकाश का महिला के घर लगातार आना-जाना था। सिंटू और आकाश मृतक संजू देवी और उसकी पुत्री से मोबाइल पर बराबर बात किया करता था। सिंटू की शादी 25 नवंबर को ही हुई थी। संजो देवी सिंटू की शादी का विरोध करती थी, इसी कारण से अपने पुराने संबंध के कारण उसका पारिवारिक जीवन खराब न हो संजो की साजिश के तहत हत्या कर दी गई। जिसमें आकाश का सहयोग किया था।

28 नवंबर को हुई थी हत्या की प्लानिंग

सिंटू पासवान ने पुलिस को बताया कि 28 नवंबर को ही उन्होंने आकाश के साथ मिलकर हत्या की प्लानिंग कर ली थी। एसडीपीओ ने कहा कि सिंटू स्वीकार किया है कि पूरी प्लानिंग के तहत 29 नवंबर को संजू देवी को फोन कर बुलाया। इसके बाद आकाश के साथ मिलकर संजू देवी की गलाघोंट कर हत्या कर दी। 30 नवंबर को महिला का शव पुलिस ने बरामद किया।

चार्जशीट समर्पित कर स्पीडी ट्रायल के तहत दिलाई जाएगी सजा 

नवगछिया के एसडीपीओ दिलीप कुमार ने कहा कि मृतिका संजू देवी हत्याकांड का पुलिस द्वारा उद्भेदन कर दिया गया है। घटना में शामिल दोनो अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है। हत्याकांड में पुलिस के पास पर्याप्त साक्ष्य भी उपलब्ध है। हत्या से पूर्व महिला के साथ शारिरिक संबंध बनाया जाना एक जघन्य अपराध है। इस हत्याकांड में जल्द ही पुलिस चार्जशीट दाखिल कर हत्यारों को स्पीडी ट्रायल के तहत सजा दिलवाएगी।

केस के कुछ अहम पहलू

- प्रेमी सिंटू ने कहा 28 नवंबर को आकाश के साथ मिलकर हत्या की प्लानिंग, 29 को संजू देवी को बुलाकर कर दी हत्या

- सिंटू ने स्वीकृति बयान में पुलिस को बताया कि हत्या से पूर्व संजू देवी के साथ बनाए थे अवैध संबंध

- आकाश की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने कर दिया था पूरे मामले का उद्भेदन

 - सिंटू का मोबाइल भी पुलिस ने किया बरमाद, उक्त मोबाइल से ही सिंटू ने आकाश व संजू देवी को किया था फोन


Find Us on Facebook

Trending News