बैकफुट पर पटना जिला प्रशासन,डीएम ने कहा-रामलीला आयोजन पर नहीं है कोई रोक

बैकफुट पर पटना जिला प्रशासन,डीएम ने कहा-रामलीला आयोजन पर नहीं है कोई रोक

PATNA: पटना में रामलीला आयोजन पर रोक के बाद पटना जिला प्रशासन बैकफुट पर आ गया है पटना डीएम ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा है कि रामलीला आयोजन में जिला प्रशासन का कोई रोक नहीं है .डीएम ने प्रेस रिलीज के माध्यम से कहा है कि मीडिया में भ्रामक सूचना प्रसारित की जा रही है कि रामलीला कमेटी को उनकी परंपरिक रामलीला का आयोजन करने को लेकर जिला प्रशासन अनुमति नहीं दे रहा..डीएम ने बताया कि रामलीला आयोजन में जिला प्रशासन द्वारा प्रत्येक वर्ष सभी प्रशासनिक सहयोग दिया जाता है। इस वर्ष भी रामलीला आयोजन में जिला प्रशासन की तरफ से सभी अपेक्षित सहयोग रहेगा.

 डीएम ने रामलीला कमेटी को सुझाव दिया है कि पारंपरिक रूप से रामलीला का आयोजन किया जाए जिसमें जिला प्रशासन के द्वारा सभी आवश्यक सहयोग दी जाएगी. जिलाधिकारी ने बताया कि जिले के प्रशासनिक अधिकारी समिति के लगातार संपर्क में हैं.

बता दें कि श्री रामलीला महोत्सव एवं रावण वध समारोह समिति ने फ्रेजर रोड स्थित यूथ हॉस्टल में इस बार रामलीला करने के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी थी लेकिन प्रशासन सुरक्षा कारणों से इसके लिए सहमत नहीं हुआ. दूसरी ओर कमेटी पुराने स्थल पर कार्यक्रम कराने को राजी हुई तो वृंदावन रामलीला मंडली ने दूसरी जगह अपनी बुकिंग कर ली. जिसके बाद अंत में समिति ने इस बार रामलीला नहीं करने का निर्णय लिया. 

इस खबर को लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है. बीजेपी के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने इस फैसले पर नाराजगी जाहिर की है. गिरिराज ने कहा कि मुझे पता नहीं रामलीला गांधी मैदान में क्यों नही हो रहा है लेकिन मंचन नहीं होने से कई लोगों में नाराज़गी हो सकती है. उन्होंने कहा कि इसे रोकना दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि इसके जरिये प्रभु श्री राम के चरित्र को दिखाया जाता है.

सुरक्षा कारणों से नहीं मिला आवंटन 

पटना पुलिस ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए यूथ हाॅस्टल के आवंटन से भी इंकार कर दिया. गांधी मैदान थाने ने भी प्रशासन को रिपोर्ट दी है कि यूथ हॉस्टल में रामलीला होने से शांति भंग होने की संभावना है.


Find Us on Facebook

Trending News