रौद्र रूप दिखाने लगी बागमती : एसएच 54 तक जानेवाली कच्ची सड़क पर 12 फिट पानी, नरकटिया सहित कई गांव में घुसा बाढ़ का पानी

रौद्र रूप दिखाने लगी बागमती : एसएच 54 तक जानेवाली कच्ची सड़क पर 12 फिट पानी, नरकटिया सहित कई गांव में घुसा बाढ़ का पानी

SHEOHAR : शिवहर जिले पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। नेपाल के तराई क्षेत्र में लागातर हो बारिश के कारण बागमती नदी पूरे उफान पर हैं। बागमती नदी खतरे के निशान से से काफी ऊपर बह रही है। नदी का जल स्तर 62.31 सेंटीमीटर पहुंच गया है। जिसके कारण बेलवा डेम निर्माण में बनाये गए सुरक्षात्मक तटबंध में तेजी से रिसाव शुरू हो गया है। जिसे ठीक करने में दर्जनों मजदूर लगाए गए हैं l साथ मे बागमती पुरानी धार में पानी का तेज बहाव भी शुरू हो गया है जिसके कारण नरकटिया गांव में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है. जिला प्रशासन बाढ़ को लेकर अलर्ट मोड पर हैं।फिलहाल जिला प्रशासन के अधिकारी पूरी स्थिति पर नजर लगाए हुए हैं और नदी किनारे रहनेवाले लोगों को दूसरी जगह शिफ्ट करने की व्यवस्था की जा रही है।

जल वृद्धि को देखते हुए आलाधिकारियों ने बेलवा के नजदीक बागमती नदी का निरीक्षण किया हैं। डीडीसी विशाल राज एडीएम शंभू शरण एसडीएम इश्तियाक अली सहित अन्य पदाधिकारी बेलवा पहुँच कर बागमती नदी के जलस्तर का जायजा लिया हैं। वहीं बागमती परियोजना के कार्यपालक अभियंता को कई आवश्यक दिशा निर्देश दिया हैं। वहीं तटबंध पर 24 घण्टे निगरानी रखने का निर्देश दिया हैं। उन्होंने बताया कि तटबंध में हो रहे रिसाव को रोकने का कार्य शुरू कर दिया गया है। वहीं एसएच 54 तक जानेवाली कच्ची सड़क पर 12 फीट पानी का जमाव हो गया है। आसपास के गांवों में नदी का पानी घुस गया है।

नदी की तरफ जाने पर लगाई रोक

जिले में बाढ़ की संभावना को देखते हुए जिला पदाधिकारी सज्जन राज शेखर ने जिला वासियों से अपील किया हैं कि माता-पिता अपने बच्चों का ऐसे समय मे ध्यान रखे।नदी किनारे बच्चों को स्नान न करने दे, मछली नहीं मारने दे। जिला मे कार्यरत 24 घंटे कंट्रोल रूम का नंबर भी जारी किया है। पिपराही अंचल कार्यालय में एसडीआरएफ की टीम को तैनात कर दिया गया है जो जल स्तर बढ़ने के साथ हैं और  प्रभावित जगहों पर कूच कर जाएंगे ।

Find Us on Facebook

Trending News