तेजस्वी को भाकपा ने साफ कह दिया NO, अब चुनावी मैदान में फरियाने की तैयारी

तेजस्वी को भाकपा ने साफ कह दिया NO, अब चुनावी मैदान में फरियाने की तैयारी

patna : बिहार में विधानसभा को लेकर अब उल्टी गिनती शुरू हो गई है. चुनाव की तैयारियों के बीच कभी भी चुनाव की तारीखों का ऐलान हो सकता है. लेकिन इन सब के बीच सभी पार्टियां इस इंतजार में जुटी हैं कि उनके हिस्से कितनी सीटें आती हैं. अंदरखाने सीटों के बंटवारे का काम भी चालू है.

माले ने तेजस्वी के ऑफर को किया रिजेक्ट
 महागठबंधन में भी सीट शेयरिंग की कवायद अब तेज हो गई है. लेकिन तेजस्वी यादव ने भाकपा(माले) को जो ऑफिर दिया था उसे माले ने साफ तौर पर रिजेक्ट कर दिया है. महागठबंधन में भाकपा (माले) के शमिल होने का मामला पूरी तरह फंस गया है. पार्टी ने सीट शेयरिंग के राजद के प्रस्ताव को पूरी तरह नकार दिया है. साथ ही, पार्टी अपने आधार वाली सीटों पर अकेले लड़ने की तैयारी में जुट गई है. 

माले के महासचिव दीपांकर भट्टाचार्या ने कहा कि उनकी पार्टी ने प्रस्ताव खारिज कर इसकी सूचना पत्र के माध्यम से राजद को दे दी है. हालांकि गठबंधन को लेकर बात अभी बंद नहीं हुई है, लेकिन अटक जरूर गई है. वर्ष 2015 के चुनाव को आधार मानकर सीट का बंटवारा उन्हें कत्तई मंजूर नहीं है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी विधानसभा की लगभग सौ सीटों पर चुनाव लड़ती रही है. लेकिन गठबंधन में जाने के लिए हमने 53 सीटों की सूची राजद को दी थी. बाद में राजद ने जो प्रस्ताव दिया, वह मंजूर नहीं है. अब देखना है कि तेजस्वी यादव अपने इस सहयोगी को कैसे और कब तक मना पाते हैं .

Find Us on Facebook

Trending News