भोजपुरी फिल्मों में अश्लीलता रोकने के लिए आगे आये रवि किशन, केंद्र,यूपी और बिहार सरकार को लिखा पत्र

भोजपुरी फिल्मों में अश्लीलता रोकने के लिए आगे आये रवि किशन, केंद्र,यूपी और बिहार सरकार को लिखा पत्र

GORAKHPUR : गोरखपुर के भाजपा सांसद रवि किशन शुक्ला ने भोजपुरी फिल्म और गानों के माध्यम से समाज में फैलाई जा रही अश्लीलता पर रोक लगाए जाने हेतु सूचना एवं प्रसारण मंत्री भारत सरकार प्रकाश जावड़ेकर, प्रहलाद सिंह पटेल, संस्कृति मंत्रालय केंद्रीय राज्य मंत्री, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,मुख्यमंत्री बिहार नीतीश कुमार व आलोक रंजन कला संस्कृति एवं युवा विभाग मंत्री बिहार को पत्र लिखकर भोजपुरी फ़िल्म और गानों के माध्यम समाज में फैलाई जा रही अश्लीलता पर रोक लगाए जाने के लिए  व कठोर क़ानून बनाएं जाने की  मांग किए है. रवि किशन शुक्ला ने पूर्व में बन चुकी फ़िल्म और अश्लील गानों पर भी प्रतिबंध लगाए जाने की पुरजोर वकालत किया है. 

सांसद रवि किशन शुक्ला ने प्रेषित पत्र में  इस बात का उल्लेख किया है कि भोजपुरी क्षेत्र का आज़ादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण योगदान रहा है. महात्मा गांधी का चमपारण से सत्याग्रह की शुरुआत,भोजपुर की धरती के महान रण बाँकुरे बाबू वीर कुंवर सिंह ने आज़ादी की लड़ाई में सर्वोच्च बलिदान,भोजपुरी भाषा के लोक नाटककार भिखारी ठाकुर और लोक गायक महेंद्र मिश्र की ख्याति देश - विदेश सर्वत्र फैली हुई है. उन्होंने कहा की मैं स्वयं भी पूर्वांचल के जौनपुर का निवासी हूं,हमारे प्रथम राष्ट्रपति भारत रत्न डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद की उत्पत्ति भोजपुरी माटी में रही है. रवि किशन ने पत्र में उल्लेख किया है की भोजपुरी भाषा में अनेकानेक फ़िल्में बनी है, जो आज भी हमारे कानों में गूंजते हैं. परन्तु पिछले कुछ दशक में भोजपुरी फ़िल्म और विशेषकर उसके गानों में काफ़ी गिरावट आयी हैं. आज का भोजपुरी फ़िल्म और गाना अश्लीलता का पर्याय बन गया है, जो गम्भीर चिंता का विषय है. इससे युवा पीढ़ी के कोमल मन-मस्तिष्क पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है. इसलिए भोजपुरी फ़िल्म और गानों की अश्लीलता पर लगाम लगाने की अविलम्ब आवश्यकता है ।

सांसद ने केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश, बिहार सरकार से इसके लिए एक कठोर क़ानून बनाए जाने की मांग मजबूती से किया है. जिससे भोजपुरी गाना, फिल्मों में अश्लीलता पर रोक लग सके. सांसद ने उल्लेख किया है की प्रमुख रूप से पश्चिम बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के क्षेत्र में बोली जाने वाली भोजपुरी  भारत में लगभग  25 करोड़ लोग भोजपुरी बोलते समझते है और भोजपुरी से प्रेम रखते हैं. पूरे विश्व में भोजपुरी जानने वालों की बड़ी तादात है. भोजपुरी का सम्मान हम सबका दायित्व है, केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार व बिहार सरकार भोजपुरी के सम्मान के लिए कानून बनाकर  समाज के बीच अच्छा संदेश देने का कार्य करेगी. इसके लिए मैं पूरी तौर पर आश्वास्त हूँ. 

बताते चलें की भोजपुरी मेगा स्टार सांसद रवि किशन शुक्ला भोजपुरी फिल्म जगत में पिछले 3 दशकों से अधिक समय से जुड़े हैं. इसमें कोई संदेह नहीं है कि भोजपुरी फ़िल्म उद्योग को समृद्ध बनाने में इनका महत्वपूर्ण योगदान है. उनकी तरफ से वर्तमान में उठी यह मांग निश्चित रूप से प्रासंगिक भी लगता है. रवि किशन गोरखपुर से सांसद बनने के बाद लगातार भोजपुरी के उत्थान के लिए प्रयास कर रहे हैं लोकसभा में वह इकलौते सांसद हैं जिनके द्वारा भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में स्थान दिलाने के लिए एक ग़ैर -सरकारी सदस्य का  विधेयक भी संसद में पेश किया है, जिससे भारत सरकार द्वारा इस भाषा क़ो समवर्धन और संरक्षण प्रदान करें. 

Find Us on Facebook

Trending News