गुजरात में भाजपा को बड़ा झटका, मोदी सरकार में मंत्री रहे जय नारायण ने थामा कांग्रेस का हाथ

गुजरात में भाजपा को बड़ा झटका, मोदी सरकार में मंत्री रहे जय नारायण ने थामा कांग्रेस का हाथ

DESK. गुजरात चुनाव में रोज ही नए-नए दांव पेंच देखने को मिल रहे हैं। सभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव को अपने पाले में करने के लिए तमाम हथकंडे अपना रही हैं। गुजरात में भाजपा के दिग्गज नेता और पूर्व में गुजरात की मोदी कैबिनेट में मंत्री रहे जय नारायण व्यास ने कुछ दिनों पूर्व बीजेपी से इस्तीफा दे दिया था। व्यास ने अब बीजेपी छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे की मौजूदगी में अपने बेटे समीर व्यास के साथ पार्टी की सदस्यता ली। इसी महीने में जय नारायण व्यास ने भाजपा से त्यागपत्र दिया था। 

बता दें को बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाले पूर्व मंत्री जेएन व्यास सिद्धपुर विधानसभा से चार बार विधायक रहे हैं। जेएन व्यास पूर्व में गुजरात की नरेंद्र मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में व्यास कांग्रेस प्रत्याशी से चुनाव हार गए थे, जिसके चलते इस बार भाजपा ने उनका टिकट काट दिया था। इस कारण वह लंबे समय से पार्टी नेतृत्व से नाराज चल रहे थे। 

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे जेएन व्यास को कांग्रेस की सदस्यता दिलाई। इस मौके पर उन्होंने कहा कि गुजरात में 27 साल के शासन के बाद भी भाजपा के राष्ट्रीय नेता एक वार्ड से दूसरे वार्ड घूम रहे हैं। कई राज्यों के सीएम यहां आ रहे हैं और लोगों को गुमराह करने के लिए भड़काऊ भाषण दे रहे हैं। उन्होंने कहा, राज्य में बदलाव लाने के बजाय, भाजपा ने अपने सीएम को ही बदल दिया। यहां छह साल में तीन सीएम बदले गए। 

गौरतलब है कि रविवार शाम को ही कच्छ जिले की अबडासा विधानसभा सीट से AAP के उम्मीदवार ने भाजपा प्रत्याशी को समर्थन देने का ऐलान कर दिया था। इस सीट से आम आदमी पार्टी ने वसंत वलजीभाई खेतानी को अपना उम्मीदवार बनाया था। उन्होंने रविवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया और जनता से बीजेपी उम्मीदवार प्रद्युमन सिंह जडेजा को जिताने की अपील की है।


Find Us on Facebook

Trending News