शराबबंदी कानून में फंसी बड़ी मछली : शराब के धंधे में संलिप्तता को लेकर सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक चेयरमैन गिरफ्तार

शराबबंदी कानून में फंसी बड़ी मछली : शराब के धंधे में संलिप्तता को लेकर सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक चेयरमैन गिरफ्तार

बड़ी खबर सिवान जिले से सामने आई है, जहां शराबबंदी कानून के जाल में एक बड़ी मछली फंस गई है। यहां पुलिस ने शराब के धंधे में संलिप्तता का आरोप में सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रामायण चौधरी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उक्त कार्रवाई मैरवा और मुफस्सिल थाना की संयुक्त टीम द्वारा की गई है। फिलहाल, गिरफ्तार के बाद चेयरमैन रामायण चौधरी को पुलिस रेफरल अस्पताल ले गयी जहां उनका कोरोना जांच कराया गया। पुलिस अब रामायण चौधरी को कोर्ट में पेश करने की प्रक्रिया में लग गई है। इस गिरफ्तारी से सीवान में हलचल मची हुई है।

इस कारण हुई गिरफ्तारी

सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन रामायण चौधरी की गिरफ्तारी को लेकर बताया गया कि बीते 23 सितंबर को धरनीछापार चेकपोस्ट के समीप पुलिस ने शराब का कंटेनर बरामद किया था। उस कार्रवाई में दो धंधेबाजों को गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तार काराबारियों ने रामायण चौधरी का नाम बताया। 

गतिविधियों पर रखी जा रही थी निगरानी

इस कार्रवाई में पकड़े गए दोनों शराब तस्करों के बयान के बाद पुलिस दो चेयरमैन रामायण चौधरी की गतिविधियों पर निगरानी रख रही थी और उनके खिलाफ जांच में जुटी थी। ज्योंहि पुलिस को सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के चेयरमैन के खिलाफ सबूत मिले, उसके बाद जिले के पुलिस कप्तान ने मैरवा और मुफस्सिल थाना की संयुक्त टीम बनाई गयी थी। दोनो थाना पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में चेयरमैन के बरहन गांव स्थित आवास पर छापामारी की मंगलवार की सुबह वहीं से चेयरमैन को गिरफ्तार कर लिया गया। रामायण चौधरी की गिरफ्तारी के बाद रेफरल अस्पताल में कोरोना की जांच करायी गयी। उसके बाद पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच सीवान भेज दिया गया।


Find Us on Facebook

Trending News