झारखंड में हो गया बड़ा सियासी खेल, हेमंत सोरेन ने हासिल किया विश्वास मत, भाजपा की नहीं गली दाल

झारखंड में हो गया बड़ा सियासी खेल, हेमंत सोरेन ने हासिल किया विश्वास मत, भाजपा की नहीं गली दाल

रांची. झारखंड में हेमंत सोरेन सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया है. विश्वास मत के पक्ष में 48 वोट पड़े जबकि भाजपा के वॉक आउट के कारण विपक्ष में शून्य वोट आया. दरअसल, इन दिनों झारखंड की सियासत में घमासान मचा हुआ है। सीएम हेमंत सोरेन की विधायकी पर तलवार लटकी  हुई है। इस बीच झारखंड की सोरेन सरकार ने विधानसभा में विश्वास मत पेश किया और जीत हासिल की। इसके लिए एक दिन का विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है।  

बताया जा रहा है कि सीएम हेमंत सोरेन के खनन लीज मामले में चुनाव आयोग की चिट्ठी मिलने के 11 दिन बाद भी राज्यपाल का कोई आदेश नहीं आया है, लेकिन राज्य की राजनीति में उथल-पुथल मची हुई है। हेमंत सोरेन ने अपने 32 विधायकों को एकजुट करने के लिए 30 अगस्त को रायपुर भेजा था। ये सभी विधायक रविवार की रात रांची पहुंच चुके हैं। सभी को स्टेट गेस्ट हाउस में रखा गया है। ये विधायक स्टेट गेस्ट हाउस से सीधे 11 बजे विधानसभा पहुंचेंगे। यहां ये विधानसभा की कार्यवाही में हिस्सा लेंगे।

विश्वास मत पर हुई चर्चा के दौरान हेमंत सोरेन ने कहा, भाजपा आए दिन विधायकों की खरीद-फरोख्त करती रहती है। बीजेपी सरकार को अस्थिर करने का काम करती है। उन्होंने कहा कि ये लोग आदिवासी महिला को राष्ट्रपति बनाकर आदिवासी मुख्यमंत्री की सत्ता छीनने की कोशिश कर रहे हैं। इनके मुख में राम, बगल में छुरी है।

सदन में बहुमत साबित कर हेमंत सोरेन सरकार ने अब विरोधियों को करार जवाब दिया है. विशेषकर विपक्ष में मौजूद भाजपा जिस तरह से सरकार के खिलाफ बहुमत संकट होने को लेकर कई प्रकार के दावे कर रही थी. साथ ही हेमंत की विधानसभा सदस्यता पर मंडराते खतरे के बीच यह हेमंत का भाजपा के खिलाफ बड़ी मनोवैज्ञानिक जीत है. 


Find Us on Facebook

Trending News