कांग्रेस की वर्चुअल मीटिंग पर बीजेपी का अटैक,कहा- बिहार की जनता को झांसा देने की कोशिश

कांग्रेस की वर्चुअल मीटिंग पर बीजेपी का अटैक,कहा- बिहार की जनता को झांसा देने की कोशिश

पटनाः बीजेपी-जदयू के बाद अब कांग्रेस भी बिहार विधान सभा चुनाव की तैयारी में जुट गई है। कांग्रेस ने आज वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं को चुनावी तैयारी में जुट जाने का आह्वान किया है। राहुल गांधी ने आज बिहार से जुड़े करीब 1 हजार नेताओं के साथ बातचीत की और बाढ़,कोरोना और चुनाव पर चर्चा की।राहुल गांधी ने बिहार सरकार पर अटैक करते हुए कहा कि अब सुशासन का राज नहीं है।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सुशासन का नामोनिशान नहीं है। राहुल ने कहा कि भारत में सभी बड़े बदलाव की शुरूआत बिहार से ही होती है। यह आज की बात नही है, हजारों साल से चली आ रही है, स्वतंत्रता आंदोलन की शुरुआत भी गांधी जी ने पश्चिमी चंपारण से की थी .इस बार के विधान सभा चुनाव में बिहार में बदलाव होगी और नीतीश कुमार की कुर्सी जाएगी।

राहुल गांधी की मीटिंग पर बीजेपी का अटैक

 बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉo निखिल आनंद ने राहुल गाँधी की कांग्रेस नेताओं के साथ वर्चुअल बैठक को बिहार की जनता को झाँसा देने का प्रयास बताया है। निखिल ने कहा कि दुखद है कि वर्चुअल बैठक में राहुल गाँधी ने सुशांत सिंह राजपूत के मामले में रणदीप सिंह सुरजेवाला और शक्ति सिंह गोहिल के बिहार सरकार- बिहार पुलिस के खिलाफ और महाराष्ट्र सरकार- मुम्बई पुलिस के समर्थन में दिए गए बयान को सही ठहराया। यही नहीं राहुल गाँधी ने सुशांत सिंह राजपूत के मामले में सीबीआई जाँच को भी गलत ठहराया है।

निखिल आनंद ने कहा कि राहुल गाँधी की पार्टी महाराष्ट्र और दिल्ली में सुशांत सिंह राजपूत मामले की सीबीआई जाँच का विरोध करती है। वहीं बिहार कांग्रेस के लोगों को निर्देश दिया जाता है कि सुशांत के मामले में सीबीआई जाँच के समर्थन में बयान दें। स्पष्ट है कि कांग्रेस की नीयत ठीक नहीं है और वह दिखावे की नीति पर राजनीति करती है। कांग्रेस इस तरह शिवसेना और एनसीपी के साथ गठबंधन धर्म निभाने के लिए सुशांत सिंह राजपूत, उनके परिवार, दुनिया भर में समर्थकों और बिहार की जनता को झाँसा देकर अपमान कर रही है।

Find Us on Facebook

Trending News