बिहार बीजेपी ने जेडीयू को दे दिया जवाब,किसी कीमत पर अपनी परंपरागत सीट नहीं छोड़ेंगे....

बिहार बीजेपी ने जेडीयू को दे दिया जवाब,किसी कीमत पर अपनी परंपरागत सीट नहीं छोड़ेंगे....

पटनाः बिहार की सत्ताधारी पार्टी जेडीयू लगातार राजद के सीटिंग विधायकों को तोड़कर अपनी पार्टी में मिला रही है. जेडीयू की नजर सहयोगी बीजेपी की उन पुरानी सीटों पर है जो पहले बीजेपी के कोटे में रही है.जेडीयू -बीजेपी गठबंधन में भी पालीगंज सीट बीजेपी के पास ही रही । 2015 के विस चुनाव में राजद के हाथों बीजेपी उम्मीदवार की हार हो गई और वहां से जयवर्धन यादव चुनाव जीत गए।लेकिन 2020 आते-आते उन्होंने पाला बदलने का निर्णय ले लिया है।इस निर्णय से बीजेपी की पैतृक सीट के छीनने की पूरी गुंजाईश बन गई है।

बीजेपी की सीट पर हमारे ही उम्मीदवार होंगे-जायसवाल

जेडीयू की तरफ से बीजेपी की परंपरागत सीट पर नजर टिकाने पर बीजेपी नेतृत्व की सकते में है।पार्टी नेतृत्व के अंदर भी जेडीयू के इस निर्णय से हलचल शुरू हो गई है।पार्टी के कई नेता परंपरागत सीट पर जेडीयू की तरफ से राजद विधायक को तोड़कर अपनी मिलाने से चिंतित दिख रहे हैं.न्यूज4नेशन ने जब बिहार बीजेपी अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल से पूछा कि आपकी परंपरागत सीट पालीगंज पर सहयोगी जेडीयू की नजर है और वहां से राजद विधायक को अपनी पार्टी में मिलाकर उम्मीदवारी की तैयारी है।इस पर बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि समय आने पर सबकुछ क्लियर हो जायेगा।लेकिन उन्होंने यह साफ-साफ मैसेज दे दिया कि गठबंधन में बीजेपी की जो सीट है उस पर हमारे ही उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे।हालांकि प्रदेश इससे आगे कुछ नहीं कहा और उठकर चले गए।लेकिन नेतृत्व ने यह स्पष्ट कर दिया कि पालीगंज में जिस तरह जेडीयू ने राजद विधायक को तोड़कर अपनी पार्टी में शामिल करा लिया है उससे नेतृत्व चिंतित है।



क्या छीन जाएगी बीजेपी की परंपरागत सीट?

अब विधान सभा चुनाव से ठीक पहले राजद विधायक जयवर्धन यादव पाला बदलकर जेडीयू में शामिल हो गए हैं.अब पूरी संभावना बन गई है कि पालीगंज सीट जेडीयू बीजेपी से छीन लेगी।क्यों कि जेडीयू नेतृत्व की तरफ से टिकट मिलने के आश्वासन पर ही राजद विधायक जयवर्धन यादव पाला बदलकर जेडीयू में शामिल हुए हैं.बता दें कि पालीगंज सीट पर 2015 में बीजेपी उम्मीदवार रामजन्म शर्मा चुनाव लड़े थे लेकिन उनकी हार हुई थी।2010 में इस सीट से बीजेपी के उम्मीदवार उषा विद्यार्थी चुनाव जीती थीं लेकिन 2015 के चुनाव में बीजेपी नेतृत्व ने उनका टिकट काट कर बिक्रम के पूर्व विधायक रामजन्म शर्मा को टिकट दे दिया था। अब तक एनडीए गठबंधन और उससे पहले भी पालीगंज सीट पर बीजेपी अपना उम्मीदवार देते रही है. 

अब तक 6 विधायक जेडीयू में हुए शामिल  

बता दें कि राजद के 6 विधायकों नेअबतक जेडीयू ज्वाईन कर लिया है. केवटी के विधायक फराज फातमी,पालीगंज के राजद विधायक जयवर्धन यादव और लालू यादव के समधी चंद्रिका राय भी जेडीयू में शामिल हो गए हैं.विधायक अशोक कुमार,प्रेमा चौधरी और महेश्वर यादव भी सोमवार को जेडीयू में शामिल हुए थे।

Find Us on Facebook

Trending News