BIHAR CRIME: राजद नेता की हत्या के पांच दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली, आरजेडी प्रतिनिधिमंडल ने जताई नाराजगी

BIHAR CRIME: राजद नेता की हत्या के पांच दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली, आरजेडी प्रतिनिधिमंडल ने जताई नाराजगी

KATIHAR: जिले में पांच दिनों पहले आरजेडी नेता सह सामाजिक कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई थी. अपराधियों ने उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया था जिसके बाद उनकी मौत हो गई थी. इसी कड़ी में आरजेडी के प्रतिनिधिमंडल ने कटिहार जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की और जल्द ही उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया. 

यह वारदात सलमारी थाना क्षेत्र के काली मंदिर के पास हुई थी. इस वारदात में बेखौफ अपराधियों निर्मल बुबना को घर के पास ही गोलियों से छलनी कर दिया था. अपने नेता की हत्या को राजद ने गंभीरता से लिया है. राज्यसभा सांसद अहमद अशफाक करीम के नेतृत्व में राजद के चार विधायकों का प्रतिनिधिमंडल पीड़ित परिवार से मुलाकात करने पहुंचा. इस दौरान कई अन्य राजद नेता और कार्यकर्ता भी साथ में रहे. सभी ने निर्मल बुबना के घर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की और परिजनों का ढांढस बढ़ाया.

नेताओं ने निर्मल बुबना के आवास पर पहुंचकर उनके परिजनों को इस कठिन हालात में साथ होने का भरोसा दिया है. बताते चलें निर्मल बूबना सीमांचल के इलाके में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के बेहद नजदीकी माने जाते थे. अब उनकी हत्या के बाद राजद विधायक मंजू अग्रवाल, रणविजय साहू, प्रोफेसर चंद्रशेखर और रामवृक्ष सदा ने आवाज बुलंद की है. विधायक मंजू अग्रवाल ने कहा कि सरकार फेल हो चुकी हैं, इसलिए नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए. वहीं प्रोफेसर चंद्रशेखर ने कहा कि कटिहार डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद के गृह जिला है. अगर उस जिले में भी अपराध के पांच दिन बाद भी मामले पर खुलासा ना हो, तो बिहार ने क्राइम ग्राफ किस स्तर पर पहुंच चुका है और पुलिस इसे लेकर कितना गंभीर है इसे समझा जा सकता है.

Find Us on Facebook

Trending News