BIHAR CRIME: स्वावलंबी बनने की राह में कई रोड़े, लोन दिलाने के नाम पर 38 महिलाओं को लगा चूना, बड़ी रकम लेकर एजेंट फरार

BIHAR CRIME: स्वावलंबी बनने की राह में कई रोड़े, लोन दिलाने के नाम पर 38 महिलाओं को लगा चूना, बड़ी रकम लेकर एजेंट फरार

KATIHAR: बिहार में महिला सशक्तिकरण के लिए सरकार के साथ-साथ कई संस्थाएं निजी स्तर पर भी महिलाओं के जीवन का स्तर ऊंचा करने के लिए इस पर काम कर रही है। इन्हीं सब हंस के बीच कुछ कौए ऐसे भी हैं जो कम पढ़ी लिखी, सुदूर क्षेत्र की महिलाओं को लच्छेदार बातों में फंसाकर उनसे ठगी करते हैं। ऐसा ही एक मामला कटिहार में सामने आया है, जहां 38 महिलाओं को ठग लिया गया।

लोन दिलाने के नाम पर कई संस्थाओं ने कुकुरमुत्तों की तरह अपना जाल बिछाकर रखा है, जिसमें कई लोग फंसकर अपना सबकुछ गंवा बैठते हैं।कुछ संस्थाएं ऐसे भी हैं जो सुदूर इलाके की महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने के लिए लोन देने के नाम पर झांसा दे रहे है। इतना ही नहीं कटिहार के कुर्सेला थाना क्षेत्र में ग्रामीण महिलाओं को लोन देने के नाम पर ठगी का बड़ा खेल भी हुआ है। यहां की 38 महिलाओं से प्रति महिला 2010 रुपए इस एवज में लिए गए हैं कि उन लोगों को जल्द लोन मुहैया करवाया जाएगा। अब कुल 76 हजार 380 रुपए लेकर उस निजी संस्था के एजेंट और मैनेजर फरार हो गए हैं। जिसके बाद से महिलाओं के सामने बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है। बड़ी संख्या में महिला ठगी के शिकार होने के बाद अपनी आपबीती सुनाते हुए कुर्सेला थाना में इस बाबत आवेदन देकर इस फर्जीवाड़े के खुलासे की मांग की हैं।

इस मामले में महिलाओं ने बताया कि निजी कंपनी के 6 कर्मचारी 2-2 की टीम बनाकर 3 दिन तक इनसे मिलने आए। इस दौरान महिलाओं को स्वावलंबी बनाने से लेकर कई तरह के प्रलोभन दिए गए। जिसके बाद तीसरे दिन हर महिला से 2010 रुपए लिए गए। कुल 76 हजार 380 रुपए लेने के बाद सभी को शुक्रवार तक लोन दिलाने की बात कहकर सभी कर्मचारी और मैनेजर हवा में गायब हो गए। अब किसी का कॉल नहीं लग रहा। मामले में डीएसपी अमरकांत झा ने कहा कि ठगी से जुड़ा ये मामला पुलिस के सामने आया है। अब इस मामले पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी। निश्चित तौर पर स्वाबलंबी होती बिहार के महिलाओं के लिए ऐसे ठगों से बचना भी अपने आप में एक चुनौती है।

Find Us on Facebook

Trending News