BIHAR : अस्पतालों की व्यवस्था की पोल खोलने पर पप्पू यादव पर एफआईआर, लोगों ने हिटलर से की सरकार की तुलना

BIHAR : अस्पतालों की व्यवस्था की पोल खोलने पर पप्पू यादव पर एफआईआर, लोगों ने हिटलर से की सरकार की तुलना

GAYA : अखिल भारतीय महात्मा ज्योतिबा फुले विचार मंच के राष्ट्रीय संयोजक पूर्व रालोसपा नेता विनय कुशवाहा ने जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जाप सुप्रीमो पूर्व सांसद पप्पू यादव पर गया के मगध मेडिकल थाना में केस करने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और इसकी कड़ी शब्दों में निंदा की है।

विनय कुशवाहा ने कहा कि पप्पू यादव मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था का जायजा लेने के लिए गए थे वहां पर जिस तरह से मरीजों को जमीन पर लिटा कर ऑक्सीजन दिया जा रहा था काफी संख्या में मरीज तड़प रहे थे उनका कोई इलाज नहीं हो रहा था प्रतिदिन दर्जनों की संख्या में लाशों के ढेर मगध मेडिकल कॉलेज से निकल रही है अस्पताल प्रशासन निकम्मा है और रोगियों के प्रति संवेदनहीन है ऐसी परिस्थिति में उल्टे जो समाज की सेवा में रोगियों को हर संभव सहायता पहुंचाने में लगे पप्पू यादव पर केस करना सरकार की हिटलर शाही नहीं तो और क्या है?


राज्य की सरकार अस्पताल में हो रहे मरीजों के साथ अन्याय को छुपाना चाहती है आज अस्पताल में मरीजों को बेड नहीं मिल रहे हैं ऑक्सीजन का घोर अभाव है जीवन रक्षक दवाइयां नहीं मिल रही है ऐसी परिस्थिति में भी पप्पू यादव ने बहुत से मरीजों को जो बिहार के कोने कोने में है उनका मदद किया है ऐसे समाजसेवी पर सरकार द्वारा केस करना क्या न्याय उचित है।

   केस करना है तो मेडिकल कॉलेज के सुपरिटेंडेंट पर होनी चाहिए जो सैकड़ों मौत का जिम्मेदार है केस सरकार पर होनी चाहिए जो ऑक्सीजन बेड जीवन रक्षक दवाइयां इतने लंबे शासन के बावजूद भी अस्पताल में व्यवस्था नहीं किया जिसके कारण हजारों लोगों की जान चली गई और अभी भी हजारों की संख्या में लोग करोना से संक्रमित हैं और उन्हें अस्पताल में बेड के लिए ऑक्सीजन के लिए जीवन रक्षक दवाइयां के लिए दर-दर की ठोकरें खाना पड़ रहा है और अंत में अस्पताल परिसर में यह आपने घर में असहाय दम तोड़ दे रहे हैं

Find Us on Facebook

Trending News