बिहार सरकार का सरकारी स्कूल के शिक्षकों को लेकर बड़ा निर्णय, अब एक तिहाई शिक्षक ही जायेंगे विद्यालय

बिहार सरकार का सरकारी स्कूल के शिक्षकों को लेकर बड़ा निर्णय, अब एक तिहाई शिक्षक ही जायेंगे विद्यालय

PATNA: कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के मद्देनजर बिहार के सभी शिक्षण संस्थान 18 अप्रैल तक बंद किए गए हैं .हालांकि सरकारी स्कूल के शिक्षकों को विद्यालय बुलाया जा रहा था। लेकिन अब सरकार ने शिक्षकों को लेकर एक बड़ा निर्णय लिया है .

अब एक तिहाई शिक्षक ही स्कूल जायेंगे

शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा है कि अब यह निर्णय लिया गया है कि शिक्षक भी अपने विद्यालय में एक तिहाई की संख्या में ही जाएंगे. प्रत्येक शिक्षक बारी-बारी से इसी हिसाब से विद्यालय में उपस्थित रहेंगे. विजय कुमार चौधरी ने बताया कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण सारे शिक्षण संस्थान 18 अप्रैल तक बंद किए गए हैं. सरकार चिंतित है कि विद्यालय कैसे खुले और बच्चे कैसे पढ़ना लिखना शुरू करें. लेकिन कोरोना वायरस कै फैलाव लगातार बढ़ रहा है। आगे भी अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है.

शिक्षा मंत्री ने प्रधानाध्यापकों को दिया टास्क

शिक्षा मंत्री ने कहा कि जिस तरह के हालात बन रहे हैं वैसी स्थिति में शिक्षा विभाग ने फैसला लिया है कि अब शिक्षक भी अपने विद्यालय में एक तिहाई की संख्या में ही जाएंगे. इस अवधि में प्रधानाध्यापक एवं शिक्षक विद्यालय के कार्यालय संबंधित अभिलेखों का निरीक्षण,भेजे जाने वाले प्रतिवेदन का अद्यतीकरण, लेखा संधारण का लंबित कार्य पूर्ण करेंगे। साथ ही राजस्व विभाग द्वारा भूमि सर्वे का कार्य चल रहा है ऐसी स्थिति में वे अपने विद्यालय के भू- परिसंपत्ति संबंधी दस्तावेज खोज कर अंचल कार्यालय से उसका सत्यापन एवं मौलिक निरीक्षण की प्रक्रिया सुनिश्चित करें. जिन जिलों में सर्वे का कार्य शुरू नहीं हुआ है वहां भी अभिलेख प्राप्त कर आगे की तैयारी करें.


Find Us on Facebook

Trending News